आज कल ऑनलाइन पढ़ाने का ट्रेंड जोरों पर है. यदि आप भी पढ़ाने का शौक रखते हैं और खाली समय या फिर प्रोफेशनली ऐसा कर सकते हैं तो ऑनलाइन कोचिंग सेंटर खोला जा सकता है. इसके जरिए स्टूडेंट को पढ़ाने से लेकर पैरेंट्स के सवालों तक सभी कुछ ऑनलाइन सजेस्ट कर सकते हैं. इसके लिए ट्रेनिंग कोर्स इंटरनेट पर मौजूद है. इस बारे में पता करें और घर बठे ऑनलाइन पढ़ाकर पैसा कमाएं.

यदि आप college (student) में पढनें वाले छात्र है और part time online पैसे कमाने के लिए कोई तरीका ढूंढ रहे है जिससे आप घर बैठकर ऑनलाइन अपनी पढाई के साथ साथ कुछ पैसे बना सको और अपना खर्चा निपटा सको तो आप बिलकुल सही जगह पर है, यहाँ मैं students के लिए full time या part time काम (job) करके online पैसे कमाने के कुछ तरीके बता रहा हु जिनसे एक college छात्र online अपनी study के साथ आसानी से पैसे बना सकता है। तो, अगर आप एक student है और अपने लिए कोई ऐसा काम तलाश कर रहे है जिससे आप online पैसे कमा सकते है तो आप इस post को पढ़ सकते है इस post में college students के लिए online पैसे कमाने के कई आसान तरीके बताए गए है।
एक ब्लॉग शुरू करने के तरीके के साथ ऑनलाइन बनाने की पहली रणनीति है Clickbank। आमतौर पर लोगों को बाजार में उपलब्ध कराई गई सबसे बड़ी और नवीनतम चीजों के बारे में नवीनतम जानकारी प्राप्त करने के लिए ब्लॉगों से परामर्श करना होगा। जब आप अपने ब्लॉग पर मजबूत जुनून और ऊर्जावान स्वर को उगलते हैं, तो आपके पास ऐसे अनुयायी होते हैं जो हमेशा उन चीज़ों पर विचार करते हैं जिन्हें आप खरीदने के योग्य होने की सलाह देते हैं
सर्च इंजिन अनुकूलन सीखे: चाहे ऑनलाइन चुनें या आपके स्थानीय कॉलेज के द्वारा प्रदत्त कोर्स करें, ऑनलाइन जगत में स्वयं को स्थवित करने के लिए सर्च इंजिन अनुकूलन (SEO) के बारे में ज्ञान होना अतिआवश्यक हैं। सर्च इंजिन अनुकूलन (SEO) के बारे में जान कर आप अपने व्यवसाय को गूगल के सर्च इंजिन पर लोगो द्वारा खोजे जाने वाले संकेतशब्दो के आधार पर संभावित ग्राहकों का ध्यान ज्यादा प्रभावी तौर पर आकर्षित कर सकते हैं।
ब्लॉग्गिंग घर बैठे करने के लिए एक बहुत ही अच्छा ऑनलाइन काम है, इस काम को करके आप अनलिमिटेड पैसा कमा सकते हैं। ये काम बहुत अच्छा है, घर बैठे इसे लाखों लोग कर रहे हैं, और लाखों रूपए प्रतिमाह कमा रहे हैं। आसानी से आप एक ब्लॉग बना सकते हैं, उसमे अच्छे कंटेंट दाल सकते हैं और अपने ब्लॉग का प्रोमोशन भी कर सकते हैं। ब्लॉग बनाना बहुत ही आसान है, और ब्लॉग में पोस्ट करना भी बहुत आसान है। ब्लॉग पैसे कमाने का बहुत अच्छा व आसान तरीका है गूगल एडसेंस जैसे AD नेटवर्क का AD डालना, जहाँ आपको अपने AD में होने वाले हर क्लिक के पैसे मिलेंगे।
इसके अलावा, विज्ञापन की नौकरी भी हो सकती है जो कि शुरुआत और ऑनलाइन कैरियर को छलांग लगाने का एक अच्छा तरीका हो सकती है। वे फ्रीलान्स प्रकार की नौकरियां हैं जो आप शुरू कर सकते हैं वे आपको किसी विशिष्ट समय की स्टाम्प में लॉग इन करने की आवश्यकता नहीं करते हैं, आप किसी भी समय बिना नियत समय पर ब्रेक के लिए जा सकते हैं, और आप एक मालिक के साथ काम नहीं करते हैं जो हमेशा आपकी पीठ के पीछे छिपता रहता है और आपके हर कदम को देख रहा है। आमतौर पर, आप अपनी गति से काम करते हैं
आपको कई ऐसी वेबसाइट मिलेंगी जो आपको घर बैठे  एडवरटाइसमेंट पढने के पैसे देंगी, ये ऑनलाइन पैसा कमाने का सबसे आसान तरीका है। एडवरटाइसमेंट  इस समय दुनिया के सबसे बड़े व्यापारों में से एक है। ऐसी वेबसाइट का उद्देश्य अपने शब्दों को लोगों में पहुँचाना होता है। ऐसी कई वेबसाइट हैं जो आपको अपनी एड को पढने के लिए पैसा देने को तैयार हैं। ऐसी वेबसाइट में आप Sign Up करके उनकी एड्स (Advertisement) पढ़कर पैसा कम सकते हैं।बहुत सी साइट्स तो ऐसी हैं जो आपके मोबाइल पर SMS के जरिये AD भेजती हैं, और आपको आपके मोबाइल में AD पढने के पैसे भी देती हैं। इस जॉब को तो घर बैठे कोई भी महिला भी कर सकती है, रोजाना आप जितनी AD देखेंगे, उतना पैसा कम सकते हैं।  
इंटरनेट के जरिए योगा के बेसिक्स क्लियर कीजिए और ऑनलाइन योगा क्लासेज का बिजनेस शुरू कीजिए. इंटरनेट के साथ-साथ आप योगा एक्सपर्ट्स की किताब का भी सहारा ले सकते हैं. आज कल लोग ऑनलाइन योगा को ढूंढकर घर पर एक्सरसाइज करना चाहते हैं. ऐसे में आप अपनी क्लासेज से उन्हें स्काइप या सीडी के जरिए अपना इंस्ट्रक्टिव प्रोग्राम भेज सकते हैं. इससे लोग आपसे जुड़ेंगे और आप घर बैठे पैसा कमा सकते हैं.
विशेषज्ञों से विचार विमर्श करें। यदि आपके किसी मित्र या सहकर्मी ने ऑनलाइन पैसे कमाने में सफलता हासिल की हैं, उनके ज्ञान और अनुभव का फायदा उठायें। पता करने की कोशिश करे कि किस चीज से उन्हें फायदा हुआ और क्या बाते नुकसान पहुँचा सकती हैं। आपके ऑनलाइन व्यापार क्षेत्र के बारे में ज्यादा से ज्यादा ज्ञान पाने की कोशिश करें ये आपके व्यापार में इजाफा करेगा।
एलयू में इंजिनियरिंग फैकल्टी की शुरुआतलखनऊ विश्वविद्यालय (एलयू) ने छात्रों को विभागों के चक्कर न लगाने पड़े, इसके लिए यूनीक आईडी पोर्टल योजना की शुरुआत की। अब छात्रों को इस पोर्टल की सहायता से एक लॉग इन से सारी जानकारी मिलेगी। इसके अलावा शिकायत के लिए भी पोर्टल लॉन्च किया गया। एलयू में इंजिनियरिंग फैकल्टी की भी शुरुआत की गई, जिसकी पहली ही काउंसलिंग में सीटें भी फुल हो गईं। छात्रों को दीक्षांत में सिक्यॉरिटी फीचर वाली डिग्री और मार्कशीट दी गई। वहीं बीएलईडी का नया कोर्स भी सम्बद्ध कॉलेजों में शुरू किया गया।
रेलमंत्री को अगर यह हिसाब तब भी समझ नहीं आता है, तो एक छात्र ने जो हिसाब भेजा है, वह दे देता हूं. बीकानेर से नागपुर जाने के लिए एक ही ट्रेन है, अणुव्रत एक्सप्रेस, जो हफ्ते में एक-दो दिन ही चलती है. एक तरफ से 26 घंटे का सफर है. दोनों तरफ का किराया मिलाकर टिकट पर सिर्फ 3,240 रुपये खर्च होंगे. 23 जनवरी को पहुंचने के लिए उसे 20 जनवरी को निकलना पड़ेगा, वापसी की ट्रेन 23 और 24 की नहीं है, तो नागपुर में दो दिन रुकना भी पड़ेगा. इस तरह एक परीक्षा देने में उसे सात दिन लगेंगे. 10,000 से अधिक रुपये खर्च हो जाएंगे. रेलमंत्री जी बताएं, एक छात्र को प्रयागराज से कर्नाटक के हुबली भेजने का क्या मतलब. 32 घंटे का सफर तय करना पड़ेगा. वह भी तब, जब आपकी ट्रेन समय से चली, जो चलती नहीं. राजस्थान के गंगानगर से किसी को केरल के कोच्चि में भेजने का क्या मतलब है. क्या इसी को ऑनलाइन इम्तिहान कहते हैं...?
ग्वालियर के एक छात्र को असम के तेजपुर में सेंटर दिया गया है. बिहार के खगड़िया के छात्र को 1,700 किलोमीटर दूर आंध्र प्रदेश के राजामुंदरी में सेंटर दिया गया है. खगड़िया से एक भी ट्रेन वहां नहीं जाती है. जोधपुर के छात्र को 2,000 किलोमीटर दूर ओडिशा के राउरकेला भेजा गया है. 35 घंटे की यात्रा है और दूरी 2,000 किलोमीटर की. इस छात्र ने रेलमंत्री को ट्वीट किया है कि किसी ट्रेन में टिकट भी नहीं है. बंगाल के छात्र को तमिलनाडु के तिरुनेल्वेली सेंटर दिया गया है. ट्रेन में टिकट नहीं है. पश्चिम बंगाल के छात्र का सेंटर मुंबई दिया गया है. झांसी का छात्र हैदराबाद जाए और पश्चिम बंगाल का पुणे. पटना के मनीष को केरल के एरनाकुलम जाना होगा. जयपुर के छात्र को कोलकाता जाना होगा. गंगासागर के मेले के कारण कोलकाता जाने वाली ट्रेन में टिकट नहीं है. बंगाल के मुर्शिदाबाद का छात्र बेंगलुरू कैसे जाएगा. रेलमंत्री खुद अपनी टाइमलाइन पर यह सब देख सकते हैं.
अगस्त, 2018 में खुद रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ही ट्वीट किया था कि 74 फीसदी छात्र परीक्षा में शामिल हुए. यानी 47.56 लाख छात्रों में से 26 प्रतिशत परीक्षा देने से वंचित रह गए. इस तरह बिना इम्तिहान दिए ही 12 लाख से अधिक छात्र बाहर हो गए. जब पहले चरण की परीक्षा का रिज़ल्ट आया, तो 12 लाख छात्र ही दूसरे चरण के लिए चुने गए. अब जब संख्या छोटी हो गई, तो इनके सेंटर तो राज्य के भीतर दिए जा सकते थे. अगर नकल गिरोह से बचाने का तर्क है, तो यह बेतुका है, क्योंकि आजकल ऐसे गिरोह अखिल भारतीय स्तर पर चल रहे हैं, इसलिए सरकार को अपने सेंटर की निगरानी बेहतर करनी चाहिए, न कि छात्रों को 2,000 किलोमीटर दूर भेजकर परेशान करना चाहिए.
इंटरनेट से पैसे कमाने के लिए कंटैंट राइटिंग आपके लिए एक बेहतर तरीका हो सकता है। इससे आप 15000 से 50000 तक आसानी से कमा सकते हैं। अगर आपको लिखना पसंद है तो आप कंटैंट राइटिंग मे एक बेहतर करियर बना सकते हैं। आज के समय मे न्यूज़ पेपर, पत्रिकाओं और ऑनलाइन Blogs और Website को Content की बहुत ज्यादा आवश्यकता है। अगर आप इस क्षेत्र मे काम शुरू करना चाहते है। तो आप इसमे आसानी से शुरु कर सकते हैं। इंटरनेट से पैसे कमाने के लिए यह बहुत ही सिक्युर तरीका है। अगर आप Content writing के बारे मे ज्यादा जानकारी चाहते हैं तो आप Content writing क्या है? इससे पैसे कैसे कमाएँ  इसे जरूर पढ़ें।
कमाई के मौकों में ब्लॉगिंग, ट्यूटरिंग, रिसर्च, सर्वे, डिजिटल मार्केटिंग, वेबसाइट डिवेलपमेंट, डिजाइनिंग, फोटो एडिटिंग ऐंड सेलिंग जैसी चीजें शामिल हैं। आउटसोर्सिंग और स्टाफिंग फर्म टीमलीज सर्विसेज की सीनियर वीपी (एचआर) नीति शर्मा के मुताबिक, 'आपको अपनी स्किल, नॉलेज और ऐप्टिट्यूड के मुताबिक सही नौकरी चुननी चाहिए। यह ध्यान रखें कि आप आज जो कर रहे हैं वह शिक्षा पूरी होने के बाद आपके करियर और जीवन को आकार देगा।' 

यदि आपके पास भी कोई ऐसा टैलेंट है या आपके पास ऐसी कोई प्रतिभा है जिसे आप दुनिया को दिखाना चाहते हैं और आपकी प्रतिभा लोगों के काम को आसान बनाती है तो आप एक YouTube चैनल बना सकते हैं जब आप अपनी वीडियो यूट्यूब पर अपलोड करेंगे तो लोगों को वह पसंद आनी चाहिए. जब आपकी वीडियो पर बहुत सारे व्यूज आने लगेंगे तो आप वीडियो को Google Adsense से कनेक्ट करके YouTube से पैसे कमा सकते है.

फ्रीलैंसिंग का मतलब  अपने क्लाइंट को सर्विस प्रोवाइड करना होता है। आप फ्रीलांसर बनकर दूसरों को सर्विस प्रोवाइड कर सकते हैं, जैसे आपके पास जो भी स्पेशल स्किल हो वेब डिजाइनिंग, विडियो मेकिंग आदि कुछ भी हो आप अपनी स्किल के जरिये दूसरों को दे सकते हैं और इस से आप काफी पैसा भी घर बैठे कमा सकते हैं। फ्रीलैंसिंग उन अच्छी ऑनलाइन जॉब्स में से एक है जिस पर आप अपनी शर्तों पर काम करके खूब पैसा कमा सकते हैं।


ये चार पॉइंट्स आपके लिए बहुत आवश्यक हैं क्योंकि अगर आप इंटरनेट से पैसे कमाना चाहते हैं तो आपके पास एक अच्छा इंटरनेट कनेक्शन होना जरूरी है। उसके बाद आप जिस मशीन से काम करेंगे मतलब की आपके पास Smartphone या Computer (Laptop/Desktop) होना भी जरूरी है। इसके बाद आपके पास एक अच्छा धैर्य होना चाहिए। क्योंकि ऑनलाइन earning में आपको पहले दिन से earning के बारे में सोचना भी गुनाह है। इसके बाद सबसे महत्वपूर्ण बिंदु है कि आपके अंदर Real और Scam की समझ होना बहुत आवश्यक है। क्योंकि आप जिससे कमाई करने वाले हैं वो सच मे आपको पैसे देगा या फिर आप सिर्फ अपना समय ही बेकार कर रहें हैं। इसकी समझ आपको जरूर होनी चाहिए। आपको ज्यादा लालच में नही पड़ना है।
रेलमंत्री को अगर यह हिसाब तब भी समझ नहीं आता है, तो एक छात्र ने जो हिसाब भेजा है, वह दे देता हूं. बीकानेर से नागपुर जाने के लिए एक ही ट्रेन है, अणुव्रत एक्सप्रेस, जो हफ्ते में एक-दो दिन ही चलती है. एक तरफ से 26 घंटे का सफर है. दोनों तरफ का किराया मिलाकर टिकट पर सिर्फ 3,240 रुपये खर्च होंगे. 23 जनवरी को पहुंचने के लिए उसे 20 जनवरी को निकलना पड़ेगा, वापसी की ट्रेन 23 और 24 की नहीं है, तो नागपुर में दो दिन रुकना भी पड़ेगा. इस तरह एक परीक्षा देने में उसे सात दिन लगेंगे. 10,000 से अधिक रुपये खर्च हो जाएंगे. रेलमंत्री जी बताएं, एक छात्र को प्रयागराज से कर्नाटक के हुबली भेजने का क्या मतलब. 32 घंटे का सफर तय करना पड़ेगा. वह भी तब, जब आपकी ट्रेन समय से चली, जो चलती नहीं. राजस्थान के गंगानगर से किसी को केरल के कोच्चि में भेजने का क्या मतलब है. क्या इसी को ऑनलाइन इम्तिहान कहते हैं...?
एजुकेशन के लिए साल 2017 खास बदलावों के नाम रहा। शिक्षा विभाग से लेकर शहर के विभिन्न शैक्षिक संस्थानों में शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए काफी महत्वपूर्ण कदम उठाए गए। माध्यमिक शिक्षा विभाग में ऑनलाइन केंद्र बनाने का निर्णय लिया गया तो सारी प्रतियोगी परीक्षाओं में आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया। वहीं छात्रों की शिकायत के निस्तारण के लिए विशेष कॉल सेंटर खोलने पर भी मुहर लगाई गई। इस साल 2017 में शिक्षा में बदलाव के लिए हुए प्रयासों पर विशेष रिपोर्ट:
भारत दुनिया का अनोखा देश हैं, जहां रेलवे की ऑनलाइन परीक्षा देने के लिए किसी को 26 घंटे की रेलयात्रा करनी पड़ती है. इस महीने 21, 22 और 23 जनवरी को सहायक लोको पायलट और टेक्नीशियन के 64,317 पदों के लिए दूसरे चरण की परीक्षा होनी है. 10 दिन पहले छात्रों के सेंटरों की लिस्ट जारी की गई है. छात्रों के सेंटर 1,500 से 2,000 किलोमीटर दूर दिए गए हैं. प्रधानमंत्री के ट्वीट को री-ट्वीट करने में व्यस्त रेलमंत्री को अपनी ही टाइमलाइन पर आ रहे ऐसे अनेक मैसेजों को नोट करना चाहिए और समाधान करना चाहिए. बहुत से साधारण और किसान परिवारों के छात्रों के सामने संकट आ गया है कि इम्तिहान देने के लिए वे 10,000-20,000 रुपये कहां से ख़र्च करें.
नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका सक्सेस इन हिंदी के मंच पर इस पोस्ट में हम आपको बताने जा रहे हैं कैसे आप इंटरनेट की दुनिया में पैसे कमा सकते हैं वो भी बिना किसी इन्वेस्टमेंट के, वैसे तो इंटरनेट की दुनिया से पैसे कमाने के तरीकों के बारे में बहुत सारे लोग पहले से ही जानते हैं किन्तु ऐसे अभी बहुत सारे लोग हैं जिन्हें इसके बारे में जानकारी नहीं है. यह पोस्ट हमने आज उन्हीं लोगों के लिए लिखी है जो इंटरनेट की दुनिया में पैसे कमाना चाहते हैं और अभी उनके पास जानकारी नहीं है की कैसे कमाए ऑनलाइन पैसा.
भारत दुनिया का अनोखा देश हैं, जहां रेलवे की ऑनलाइन परीक्षा देने के लिए किसी को 26 घंटे की रेलयात्रा करनी पड़ती है. इस महीने 21, 22 और 23 जनवरी को सहायक लोको पायलट और टेक्नीशियन के 64,317 पदों के लिए दूसरे चरण की परीक्षा होनी है. 10 दिन पहले छात्रों के सेंटरों की लिस्ट जारी की गई है. छात्रों के सेंटर 1,500 से 2,000 किलोमीटर दूर दिए गए हैं. प्रधानमंत्री के ट्वीट को री-ट्वीट करने में व्यस्त रेलमंत्री को अपनी ही टाइमलाइन पर आ रहे ऐसे अनेक मैसेजों को नोट करना चाहिए और समाधान करना चाहिए. बहुत से साधारण और किसान परिवारों के छात्रों के सामने संकट आ गया है कि इम्तिहान देने के लिए वे 10,000-20,000 रुपये कहां से ख़र्च करें.
अगस्त, 2018 में खुद रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ही ट्वीट किया था कि 74 फीसदी छात्र परीक्षा में शामिल हुए. यानी 47.56 लाख छात्रों में से 26 प्रतिशत परीक्षा देने से वंचित रह गए. इस तरह बिना इम्तिहान दिए ही 12 लाख से अधिक छात्र बाहर हो गए. जब पहले चरण की परीक्षा का रिज़ल्ट आया, तो 12 लाख छात्र ही दूसरे चरण के लिए चुने गए. अब जब संख्या छोटी हो गई, तो इनके सेंटर तो राज्य के भीतर दिए जा सकते थे. अगर नकल गिरोह से बचाने का तर्क है, तो यह बेतुका है, क्योंकि आजकल ऐसे गिरोह अखिल भारतीय स्तर पर चल रहे हैं, इसलिए सरकार को अपने सेंटर की निगरानी बेहतर करनी चाहिए, न कि छात्रों को 2,000 किलोमीटर दूर भेजकर परेशान करना चाहिए.
प्राथमिक वार्तालाप के बाद भी ग्राहकों से जुड़े रहें। क्योंकि आप अपने ग्राहकों से आमने सामने नही मिल पा रहे हैं, अतः प्राथमिक बातचीत के बाद आपको उनसे लगातार जुड़े रहना चाहिए (लेकिन यह उनके लिए परेशानी का सबब भी नही बनना चाहिए)। ग्राहक के साथ शुरूआती वार्तालाप के कुछ समय पश्चात आप उन्हें इस वार्तालाप के बारे में याद दिलाने के लिए धन्यवाद ईमेल लिख सकते है, साथ ही उन्हें अतिरिक्त सवाल पुछने के लिए भी कह सकते हैं साथ ही आपके संभावित ग्राहक को आपके द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवा के बारे में अपने उत्साह को बता सकते है।
×