माइक्रो जॉब ऐसी छोटी जॉब्स हैं जिनको कम्पलीट करने में मिनटों या सेकण्ड्स का समय लगता है। ऐसी बहुत  सी साइट्स हैं जो ऑनलाइन माइक्रो जॉब्स की सुविधा देती हैं। पेज शेयर करना, शोर्ट आर्टिकल लिखना, गूगल में कुछ सर्च करना, रेवेन्यु देना जैसे सैंकड़ों आसान कार्य इसके अंदर आते हैं।  ऐसी साइट्स पर रोजाना दो घंटे काम करके आप घर बैठ 8000 से 10000 रूपए प्रतिमाह कमा सकते हैं।
ग्वालियर के एक छात्र को असम के तेजपुर में सेंटर दिया गया है. बिहार के खगड़िया के छात्र को 1,700 किलोमीटर दूर आंध्र प्रदेश के राजामुंदरी में सेंटर दिया गया है. खगड़िया से एक भी ट्रेन वहां नहीं जाती है. जोधपुर के छात्र को 2,000 किलोमीटर दूर ओडिशा के राउरकेला भेजा गया है. 35 घंटे की यात्रा है और दूरी 2,000 किलोमीटर की. इस छात्र ने रेलमंत्री को ट्वीट किया है कि किसी ट्रेन में टिकट भी नहीं है. बंगाल के छात्र को तमिलनाडु के तिरुनेल्वेली सेंटर दिया गया है. ट्रेन में टिकट नहीं है. पश्चिम बंगाल के छात्र का सेंटर मुंबई दिया गया है. झांसी का छात्र हैदराबाद जाए और पश्चिम बंगाल का पुणे. पटना के मनीष को केरल के एरनाकुलम जाना होगा. जयपुर के छात्र को कोलकाता जाना होगा. गंगासागर के मेले के कारण कोलकाता जाने वाली ट्रेन में टिकट नहीं है. बंगाल के मुर्शिदाबाद का छात्र बेंगलुरू कैसे जाएगा. रेलमंत्री खुद अपनी टाइमलाइन पर यह सब देख सकते हैं.
पिछले साल रेलवे ने 64,317 पदों की वेकेंसी निकाली थी, जिसकी पहली परीक्षा अगस्त, 2018 में हुई. 31 मार्च तक फार्म भरे गए थे. 47 लाख से अधिक छात्रों ने फार्म भरे थे. इन सबका सेंटर अचानक 1,500-2,000 किलोमीटर दूर दे दिया गया. किसी को ट्रेन में रिज़र्वेशन नहीं मिला, तो किसी के पास टिकट के पैसे नहीं थे. किसी तरह इम्तिहान देने पहुंचे, तो रात प्लेटफार्म पर गुज़ारी. बहुत से छात्रों का इम्तिहान इसलिए छूट गया कि उनकी ट्रेन लेट हो गई. छात्र चिल्लाते रहे, रोते रहे, रेलमंत्री को ट्वीट करते रहे, मगर किसी को कुछ फर्क नहीं पड़ा.
आज की इस ऑनलाइन लाइफस्टाइल में इंटरनेट यूजर्स की संख्या बहुत ही तेज़ी से बढ़ी है और ऑनलाइन शॉपिंग से लेकर ऑनलाइन बिजनेस करने तक के ढेरों विकल्प अब हमारे सामने आ गये हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा ये है कि अगर आपके पास एक यूनिक आईडिया है तो आप अपना ऑनलाइन बिजनेस बड़ी आसानी से शुरू कर सकते हैं और इस ऑनलाइन बिजनेस में कम इन्वेस्टमेंट के बावजूद भी आप कुछ ही समय में एक अच्छा अमाउंट कमा सकते हैं। ऐसे में आज बात करते हैं ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं और इसके लिए कौनसे विकल्प मौजूद हैं।

ऑनलाइन सामान बेचना – अगर आप किसी प्रोडक्ट को बनाने में महारत रखते हैं और आपको सिर्फ ऐसे प्लेटफार्म की जरुरत है जहाँ आपके प्रोडक्ट को लाखों लोग देख सके और खरीद सके तो इसके लिए आप ई-कॉमर्स वेबसाइट पर ऑनलाइन सेलर के रूप में अपने प्रोडक्ट्स बेच सकते हैं। ऐसा करने पर आप बिना खर्च के, लाखों लोगों तक अपने प्रोडक्ट्स की पहुँच बना पाएंगे और अपने प्रोडक्ट्स को ऑनलाइन बेचकर काफी अच्छा पैसा कमा सकेंगे।
मुफ्त में सामान खरीदें / खरीदें, फिर उसे पैसे के लिए बेच दें। यह निश्चित रूप से क्रेगलिस्ट पर काम कर सकता है, क्योंकि लोग लगातार सस्ते में बेच रहे हैं या मुफ्त की चीजें दे रहे हैं जो पूरी तरह से ठीक हैं या टूटी हुई हैं और उन्हें ठीक किया जा सकता है। अक्सर, लोग सबसे बड़ी वस्तुओं को केवल इसलिए छोड़ देते हैं क्योंकि वे उन्हें स्थानांतरित करने का प्रयास नहीं करना चाहते हैं। यदि आपके या आपके दोस्त के पास ट्रक है, तो आप क्रेगलिस्ट के साथ पैसा बनाने के लिए एक महान लाभ हैं।
Digitize India Platform Online Registration – वे लोग जो ऑनलाइन डाटा एंट्री जॉब्स से पैसे कमाने की सोच रहे हैं,वे सभी लोग https://digitizeindia.gov.in/ की वेबसाइट से ऑनलाइन पैसा कमा सकते हैं। मैं उन्हें इस लेख में बताऊंगा कि कैसे आप डिजिटलीइज़ इंडिया प्लेटफार्म से किसी भी समय ऑनलाइन पैसा कमा सकते हैं। इस पोस्ट में, मैं आपको डिजिटाइज़ इंडिया प्लेटफॉर्म से संबंधित सभी सूचनाएं जैसे ऑनलाइन पंजीकरण और डाटा एंट्री के काम से आप ऑनलाइन कैसे पैसे कमा सकते हैं इसकी जानकारी प्रदान करूँगा।
दोस्तों, आप ये तीनो काम करके घर बैठे हजारो रुपये की कमाई कर सकते है, आप जैसे हजारो लोग ऐसे काम करके अच्छी कमाई कर रहे है, आप भी कर सकते है। इन कार्यों के लिए आपको किसी भी तरह का निवेश करने की आवश्यकता नहीं है, आप बिना निवेश यह काम करके हर महीने हजारो रुपये आसानी से कमा सकते है। हालांकि नए काम की शुरुवात में काम समजने में आपको थोड़ी परेशानी हो सकती है, लेकिन आगे चलके आप खुद इनके मास्टर बन जायेंगे।
हालाँकि यह 100% ऑनलाइन नहीं है, फिर भी यह आपके कंप्यूटर से पैसे कमाने का एक लंबा रास्ता है, और कुछ ग्राहक सेवा नौकरियां पूरी तरह से ऑनलाइन हैं, इसलिए मैंने सोचा कि मैं इसे शामिल नहीं करता हूं। ये नौकरियां ग्राहक सेवा प्रतिनिधि या कंपनियों के लिए सेल्स सपोर्ट स्टाफ होने के कारण सरल हैं। अगर आपको फोन पर मन नहीं लगता है, तो यह आपके लिए एक बढ़िया विकल्प है।

यदि आप लिखने के शौकीन हैं और एक राइटर भी बनना चाहते हैं तो आपके लिए ऑनलाइन राइटिंग जॉब एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है क्योंकि इंटरनेट की दुनिया में बहुत सारे लोगों को रोजाना कंटेंट चाहिए होता है. जिसके लिए कंपनियां आपको हजारों रुपए तक पेय कर सकती हैं. इसके लिए आपको अपने पर्सनल नेटवर्क में बातचीत करने की आवश्यकता होगी या Google पर आकर सर्च करना होगा कि कौन सी कंपनियां ऑनलाइन राइटिंग जॉब प्रदान करती हैं फिर उसके बाद आप अपने ऑनलाइन राइटिंग के रेट फिक्स करके लिखना शुरु कर सकते हैं, यहां से आप इंटरनेट की मदद से बहुत सारे पैसे कमा सकते हैं.
लेख बेचें: बहुत सारे छोटे व्यवसाय, वेबसाइट, और व्यापारी अच्छे लेख और आसान संकेतशब्द के साथ लिखे हुए लेख खोजते हैं जिनसे उनको ज्यादा ट्रैफिक मिल सकें। हालाँकि शुरुआत में आप इससे ज्यादा नहीं कमा पाएँगे, सारे लेख मुख्यतः 200-300 शब्दों के होंगे जिन्हें जल्दी से लिखा जा सकता हैं। एक बार आप खुद को साबित कर देंगे तत्पश्चात आप अपनी सेवाओं के लिए ज्यादा कीमत की मांग भी कर सकते है। यदि आप कुशल और अनुभवी लेखक है, तो आप अपने कार्यो को आधिकारिक प्रकाशन को भी दे सकते है।
ऑनलाइन बुक राइटिंग – पहले जहाँ बुक लिखकर पब्लिश करवाना किसी टेढ़ी खीर जैसा मुश्किल लगता था वहीँ आज इंटरनेट के इस दौर में अगर आप अपनी बुक लिखना चाहते हैं तो बिना किसी खर्च के किसी भी ई बुक पब्लिशिंग वेबसाइट पर फ्री में अपनी ई-बुक पब्लिश करके ऑनलाइन बेच सकते हैं। अमेज़न, फ्लिपकार्ट, ईबे जैसी ई-कॉमर्स वेबसाइट पर ई -बुक्स को बड़ी आसानी से बेचा जा सकता है।
एलयू में इंजिनियरिंग फैकल्टी की शुरुआतलखनऊ विश्वविद्यालय (एलयू) ने छात्रों को विभागों के चक्कर न लगाने पड़े, इसके लिए यूनीक आईडी पोर्टल योजना की शुरुआत की। अब छात्रों को इस पोर्टल की सहायता से एक लॉग इन से सारी जानकारी मिलेगी। इसके अलावा शिकायत के लिए भी पोर्टल लॉन्च किया गया। एलयू में इंजिनियरिंग फैकल्टी की भी शुरुआत की गई, जिसकी पहली ही काउंसलिंग में सीटें भी फुल हो गईं। छात्रों को दीक्षांत में सिक्यॉरिटी फीचर वाली डिग्री और मार्कशीट दी गई। वहीं बीएलईडी का नया कोर्स भी सम्बद्ध कॉलेजों में शुरू किया गया।
बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर विवि (बीबीएयू) में वीसी प्रो. आरसी सोबती का ड्रीम प्रॉजेक्ट आंबेडकर भवन का निर्माण कार्य तीन साल के बाद पूरा हुआ। साथ ही कई साल से खाली पड़े पदों पर भर्तियां भी करवाई गईं। छात्रों को वाई-फाई की सुविधा भी इसी साल मिली। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) में इस साल से छात्रों की शिकायत के निवारण के लिए कॉल सेंटर बनाने पर मुहर लगी। ऐसे में यह यूपी का पहला विवि भी बना जहां छात्रों की शिकायतों के लिए कॉल सेंटर बनाया गया। ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती अरबी-फारसी विश्वविद्यालय में जहां इस साल नए वीसी आए तो वहीं पीएचडी के दाखिलों को भी हरी झंडी मिली। इसी साल यहां की कार्यपरिषद भी शुरू हुई।
मई 2016 में उनकी कोशिशें रंग लाईं और स्टार्टअप को गूगल के एक प्रोग्राम के तहत छह महीने की मेंटरशिप मिली। इडिकुला के लिए यह सपना सच होने जैसा था। उन्हें लगता है कि एक ऑनलाइन वेंचर शुरू करने का फैसला सही था, जहां विज्ञापनों से कमाई की काफी संभावनाएं हैं। ऑनलाइन टेक्नॉलजी-इनेबल्ड एक्सपेरिमेंटल लर्निंग प्लेटफॉर्म टैलंटस्प्रिंट के सीईओ और एमडी शांतनु पॉल बताते हैं कि ऑनलाइन जॉब्स या बिजनस आइडियाज स्टूडेंट्स की स्टडी के एरिया, इंटरेस्ट और एक्सपर्टाइज के हिसाब से उपलब्ध हैं। पॉल के मुताबिक, 'ऑनलाइन काम भारतीय छात्रों के लिए अहम है। जॉब मार्केट में अपनी रोजगार योग्यता और आकर्षण बढ़ाने का अहम जरिया है। इससे आपको अपने पैरों पर खड़ा होने का मौका मिलता है।'
रेलमंत्री को अगर यह हिसाब तब भी समझ नहीं आता है, तो एक छात्र ने जो हिसाब भेजा है, वह दे देता हूं. बीकानेर से नागपुर जाने के लिए एक ही ट्रेन है, अणुव्रत एक्सप्रेस, जो हफ्ते में एक-दो दिन ही चलती है. एक तरफ से 26 घंटे का सफर है. दोनों तरफ का किराया मिलाकर टिकट पर सिर्फ 3,240 रुपये खर्च होंगे. 23 जनवरी को पहुंचने के लिए उसे 20 जनवरी को निकलना पड़ेगा, वापसी की ट्रेन 23 और 24 की नहीं है, तो नागपुर में दो दिन रुकना भी पड़ेगा. इस तरह एक परीक्षा देने में उसे सात दिन लगेंगे. 10,000 से अधिक रुपये खर्च हो जाएंगे. रेलमंत्री जी बताएं, एक छात्र को प्रयागराज से कर्नाटक के हुबली भेजने का क्या मतलब. 32 घंटे का सफर तय करना पड़ेगा. वह भी तब, जब आपकी ट्रेन समय से चली, जो चलती नहीं. राजस्थान के गंगानगर से किसी को केरल के कोच्चि में भेजने का क्या मतलब है. क्या इसी को ऑनलाइन इम्तिहान कहते हैं...?
तो, ये ऑनलाइन पैसा कमाने के 10 आसान तरीके हैं (Top 10 Easy Ways To Earn Money Online in hindi) जिनका उपयोग करके आप बिना किसी  Investment के घर से ऑनलाइन पैसे कमा सकते हैं और हमें उम्मीद है कि ये तरीके आपकी बहुत मदद करेंगे। और अगर हमारी post को लेकर आपके मन मैं कोई सवाल हैं और अगर आपको कोई परेशनी आ रही हैं  तो आप हमे नीचे Comment Box मैं बता सकते हैं ।

डोमेन नाम बदलना: डोमेन नाम इंटरनेट जगत के मूल्यवान रियल एस्टेट हैं और कुछ लोग इन्हें बेच और खरीद के अच्छी कीमत कमा रहे हैं। रणनीति के लिए आप गूगल एडवर्ड का इस्तेमाल कर ज्यादा चलन में आ रहे संकेत शब्दों (Keywords) को खोज सकते हैं और अनुमान लगा सकते है कि कौनसे डोमेन नाम की भविष्य में मांग हो सकती हैं। हालाँकि छोटे, रोचक, या सीधे अच्छे डोमेन नाम पहले ही लिए जा चुके हैं, लेकिन फिर भी आप कोई भी आधिवर्णिक (Random acronyms) डोमेन भी ले सकते हैं, जैसे कि कोई नही जानते कि कब किसी व्यक्ति या कंपनी को अपनी वेबसाइट बनाने के लिए उसी नाम की जरूरत हो जाये। (उदहारण के लिए, CPC.com, जो ₹1,20,00000 में बिका था जब कॉन्ट्रैक्ट फार्मास्युटिकल कॉर्पोरेशन ने ऑनलाइन आने का निर्णय लिया।[१] तीन अक्षरो के लिए यह कीमत बुरी नहीं हैं।)
×