एफिलिएट मार्केटर बनें: बिना किसी सामान को सहेजे किसी दूसरे के उत्पादों या सेवाओं का प्रचार कर पैसे कमाने का यह बहुत अच्छा तरीका हैं। एफिलिएट विज्ञापन सामान्यतः आपके वेबसाइट/ब्लॉग/पृष्ठ में लिंक द्वारा जुड़े रहते है (यह बहुत अच्छा तरीका है यदि आपके लेख मजबूत और सम्मोहक हैं, लेकिन यह ध्यान से किया जाना चाहिए ताकि विज्ञापन स्पैमी नहीं लगे, उत्पाद-प्लेसमेंट वीडियो (यह भी अच्छा तरीका हैं यदि आप मजाकिया या आपमें प्रदर्शन की प्रतिभा हैं), या बहुत कम बैनर विज्ञापन (कम प्रभावशील) क्योंकि ज्यादातर लोग इन्हें टाल देते हैं। यदि जरूरत है, तो आप बिना वेबसाइट के भी एफिलिएट मार्केटर बन सकते हैं (यू ट्यूब पर आपके एफिलिएट लिंक के साथ वीडियो पोस्ट करें)। कमीशन जंक्शन (Commission Junction) जैसी वेबसाइट पर आप संभावित उत्पाद और सेवाएँ देख सकते हैं।
प्राथमिक वार्तालाप के बाद भी ग्राहकों से जुड़े रहें। क्योंकि आप अपने ग्राहकों से आमने सामने नही मिल पा रहे हैं, अतः प्राथमिक बातचीत के बाद आपको उनसे लगातार जुड़े रहना चाहिए (लेकिन यह उनके लिए परेशानी का सबब भी नही बनना चाहिए)। ग्राहक के साथ शुरूआती वार्तालाप के कुछ समय पश्चात आप उन्हें इस वार्तालाप के बारे में याद दिलाने के लिए धन्यवाद ईमेल लिख सकते है, साथ ही उन्हें अतिरिक्त सवाल पुछने के लिए भी कह सकते हैं साथ ही आपके संभावित ग्राहक को आपके द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवा के बारे में अपने उत्साह को बता सकते है।

शिक्षा माफियों की पैठ और फर्जी कक्ष निरीक्षकों की तैनाती पर लगाम लगाने के लिए माध्यमिक शिक्षा की ओर से इस साल ऑनलाइन केंद्र बनाने का नया प्रयोग किया गया। वहीं सीबीएसई बोर्ड ने भी पारदर्शिता लाने के लिए हाई स्कूल के होम एग्जाम इसी साल से समाप्त कर दिए। अब हाईस्कूल में भी बोर्ड एग्जाम ही होंगे। इससे स्कूलों की ओर से किए जा रहे फर्जीवाड़े पर लगाम लगी। इसके अलावा सीआईएससीई बोर्ड ने इस बार मार्किंग का पैटर्न बदल दिया। ऐसे में 33 की जगह पासिंग मार्क्स अब 35 कर दिए हैं। सारी प्रतियोगी परीक्षाओं में आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया।
इन साइटों का उपयोग लिंक को Short करने के लिए किया जाता है उसके बाद आप उस Short link या URL को जादा से जादा शेयर करना होता हैं आप इन्हें Social Sites (जैसे Facebook और Twitter)  या आप इसे अपनी खुद की ब्लॉग या साइट पर भी Use कर सकते हैं। जब भी कोई Visitor आपके short URL या link पर क्लिक करता है तो कुछ पैसे आपके URL शॉर्टनर Site के Account में add कर दियेे जाते है।
अगस्त, 2018 में खुद रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ही ट्वीट किया था कि 74 फीसदी छात्र परीक्षा में शामिल हुए. यानी 47.56 लाख छात्रों में से 26 प्रतिशत परीक्षा देने से वंचित रह गए. इस तरह बिना इम्तिहान दिए ही 12 लाख से अधिक छात्र बाहर हो गए. जब पहले चरण की परीक्षा का रिज़ल्ट आया, तो 12 लाख छात्र ही दूसरे चरण के लिए चुने गए. अब जब संख्या छोटी हो गई, तो इनके सेंटर तो राज्य के भीतर दिए जा सकते थे. अगर नकल गिरोह से बचाने का तर्क है, तो यह बेतुका है, क्योंकि आजकल ऐसे गिरोह अखिल भारतीय स्तर पर चल रहे हैं, इसलिए सरकार को अपने सेंटर की निगरानी बेहतर करनी चाहिए, न कि छात्रों को 2,000 किलोमीटर दूर भेजकर परेशान करना चाहिए.
अब आप सोच रहे होंगे कि अपने प्रोडक्ट के बारे में किसे बताएं और फोटो किसे दें तो हम आपकी जानकारी के लिए बता देना चाहते हैं भारत में आज के समय में कई सारी कंपनियां लोगों का ऑनलाइन सामान सेल कराती हैं इनमें से… फ्लिपकार्ट, अमेज़न, स्नैपडील, शॉपक्लूज आदि कंपनी आपके सामान को इंटरनेट की दुनिया में सेल करने का काम करती है जिससे आपकी ऑनलाइन इनकम होना शुरू हो जाएगी.
शिक्षा माफियों की पैठ और फर्जी कक्ष निरीक्षकों की तैनाती पर लगाम लगाने के लिए माध्यमिक शिक्षा की ओर से इस साल ऑनलाइन केंद्र बनाने का नया प्रयोग किया गया। वहीं सीबीएसई बोर्ड ने भी पारदर्शिता लाने के लिए हाई स्कूल के होम एग्जाम इसी साल से समाप्त कर दिए। अब हाईस्कूल में भी बोर्ड एग्जाम ही होंगे। इससे स्कूलों की ओर से किए जा रहे फर्जीवाड़े पर लगाम लगी। इसके अलावा सीआईएससीई बोर्ड ने इस बार मार्किंग का पैटर्न बदल दिया। ऐसे में 33 की जगह पासिंग मार्क्स अब 35 कर दिए हैं। सारी प्रतियोगी परीक्षाओं में आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया।
प्रतियोगिताओं में भाग लें: हालाँकि इसमें आपको जीते बिना पैसे नही मिलंगे। आपके कार्यक्षेत्र जैसे फोटोग्राफी, लोगो बनाना, बैकग्राउंड निर्माण में मौजूद "मुफ्त" प्रतिगिताओं की खोज करें और आपकी प्रतियों को ज्यादा से ज्यादा जगहों पर सबमिट करें। यह सब करने में एक पूरा दिन भी लग सकता हैं, लेकिन उनमें से कुछ सफल भी हो सकते है (या, शायद, बहुत सारे भी)। इससे मिलने वाला अनुभव आपको अन्य नए रचनात्मक रास्तो की खोज भी करा सकता है।
×