ईबुक बेचें: ईबुक सभी के लिए नहीं हैं, लेकिन कभी आपको अत्यावश्यक स्थिति के लिए अच्छा समाधान खोजने की कोशिश की हैं तो आपको दिमाग में जरूर आया होगा कि काश आप इस परेशानी का हल किसी को पैसे देकर जल्दी से प्राप्त कर पाते। इसी तरह ईबुक का व्यापार चलता हैं और उनकी अच्छी मांग भी हैं। ऑनलाइन खोज करे कि बाजार में क्या उपलब्ध हैं और लोग उनके बारे में फोरम में क्या शिकायते और सुझाव दे रहे हैं। उन विषयों पर ईबुक लिखने में अपना समय ख़राब ना करें जिनका जवाब वेब पर आसानी से मिल सकता हैं; अतः अच्छे विषय पर महत्वपूर्ण जानकारियों वाली ईबुक लिखें।
ये चार पॉइंट्स आपके लिए बहुत आवश्यक हैं क्योंकि अगर आप इंटरनेट से पैसे कमाना चाहते हैं तो आपके पास एक अच्छा इंटरनेट कनेक्शन होना जरूरी है। उसके बाद आप जिस मशीन से काम करेंगे मतलब की आपके पास Smartphone या Computer (Laptop/Desktop) होना भी जरूरी है। इसके बाद आपके पास एक अच्छा धैर्य होना चाहिए। क्योंकि ऑनलाइन earning में आपको पहले दिन से earning के बारे में सोचना भी गुनाह है। इसके बाद सबसे महत्वपूर्ण बिंदु है कि आपके अंदर Real और Scam की समझ होना बहुत आवश्यक है। क्योंकि आप जिससे कमाई करने वाले हैं वो सच मे आपको पैसे देगा या फिर आप सिर्फ अपना समय ही बेकार कर रहें हैं। इसकी समझ आपको जरूर होनी चाहिए। आपको ज्यादा लालच में नही पड़ना है।
स्टॉक फोटोस बेचें: आपकी अभिरुचि को जारी रखते हुए पैसे कमाने का यह बहुत अच्छा तरीका हैं। लोग सामान्यतः संकेत शब्दों (keywords) की सहायता से स्टॉक फोटोस खोजते हैं, आपका कार्य भी उन सभी लोगो के सामान ही होगा। मतलब आप वो कोई भी फोटो सबमिट कर सकते हैं जो आपको अच्छी लगती हैं। एक बार ये अपलोड कर दी गई आपका काम समाप्त हो गया, और हालाँकि आप इससे प्रति बिक्री ज्यादा तो नही कमा पाएंगे लेकिन बहुत सारी स्टॉक फोटोस होने से निश्चित रूप से बिना किसी लागत के प्रतिमाह कुछ अतिरिक्त पैसे आपके हाथ में होंगे। आईस्टॉकफोटो (iStockphoto), शटरस्टॉक (ShutterStock), और फोटोलिया (Fotolia) फोटोस खरीदने बेचने की कुछ अच्छी जगहों में से हैं।
एजुकेशन के लिए साल 2017 खास बदलावों के नाम रहा। शिक्षा विभाग से लेकर शहर के विभिन्न शैक्षिक संस्थानों में शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए काफी महत्वपूर्ण कदम उठाए गए। माध्यमिक शिक्षा विभाग में ऑनलाइन केंद्र बनाने का निर्णय लिया गया तो सारी प्रतियोगी परीक्षाओं में आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया। वहीं छात्रों की शिकायत के निस्तारण के लिए विशेष कॉल सेंटर खोलने पर भी मुहर लगाई गई। इस साल 2017 में शिक्षा में बदलाव के लिए हुए प्रयासों पर विशेष रिपोर्ट:
रेलमंत्री को अगर यह हिसाब तब भी समझ नहीं आता है, तो एक छात्र ने जो हिसाब भेजा है, वह दे देता हूं. बीकानेर से नागपुर जाने के लिए एक ही ट्रेन है, अणुव्रत एक्सप्रेस, जो हफ्ते में एक-दो दिन ही चलती है. एक तरफ से 26 घंटे का सफर है. दोनों तरफ का किराया मिलाकर टिकट पर सिर्फ 3,240 रुपये खर्च होंगे. 23 जनवरी को पहुंचने के लिए उसे 20 जनवरी को निकलना पड़ेगा, वापसी की ट्रेन 23 और 24 की नहीं है, तो नागपुर में दो दिन रुकना भी पड़ेगा. इस तरह एक परीक्षा देने में उसे सात दिन लगेंगे. 10,000 से अधिक रुपये खर्च हो जाएंगे. रेलमंत्री जी बताएं, एक छात्र को प्रयागराज से कर्नाटक के हुबली भेजने का क्या मतलब. 32 घंटे का सफर तय करना पड़ेगा. वह भी तब, जब आपकी ट्रेन समय से चली, जो चलती नहीं. राजस्थान के गंगानगर से किसी को केरल के कोच्चि में भेजने का क्या मतलब है. क्या इसी को ऑनलाइन इम्तिहान कहते हैं...?
इंडिया में और पूरी दुनिया में बहुत सारी डाटा एंट्री जॉब्स मौजूद हैं। ऐसी सैंकड़ों कम्पनियां है जो वास्तविक नहीं है और लोगों को धोखा देती हैं, मार्किट में ऐसी कई फ्रॉड कम्पनियां है जिन्हें सिर्फ आपका रजिस्ट्रेशन अमाउंट चाहिए और अगर आप ऐसी किसी कंपनी का मेम्बर बन के उन्हें अपना रजिस्ट्रेशन अमाउंट दे देते हैं, तो इसके बाद ये कम्पनियां आपको कोई रेस्पोंड नहीं देंगी। ध्यान रखिये, किसी भी टाइपिंग जॉब या डाटा एंट्री जॉब के लिए कोई फीस मत दीजिये। गूगल की सहायता से कंपनी की रेप्युटेशन चेक करने के बाद ही कोई निर्णय लें।
आपका म्यूजिक बेचें: कुछ सालों पहले, रेडियोहेड ने अपना नवीनतम एलबम खुद की वेबसाइट पर बेचने का फैसला लिया और इससे उन्होंने अच्छी कमाई भी की। हाँ भले ही आपका कार्य रेडियोहेड के स्तर (फ़िलहाल) का नहीं होगा, लेकिन बहुत से छोटे, स्वतंत्र, और यहाँ तक की बड़े नामो ने भी इस तरीके पर काम किया हैं, और बिना किसी मध्य प्रबंधक के काफी अच्छी बिक्री करने में सफलता प्राप्त की हैं।
हाल ही में रेलमंत्री ने अपने ट्विटर हैंडल पर रोज़गार से संबंधित एक प्रचार वीडियो जारी किया, जिसकी भाषा से लगता है कि रेलवे ने एक लाख लोगों को रोज़गार दे ही दिया है. सहायक लोको पायलट और टेक्नीशियन के लिए फॉर्म भरने की अंतिम तारीख 31 मार्च, 2018 थी. इसके चार महीने बाद 9 से 13 अगस्त, 2018 के बीच पहली परीक्षा होती है. इस परीक्षा का रिज़ल्ट निकलता है 20 दिसंबर, 2018 को, यानी साढ़े तीन महीने बाद. अब दूसरे चरण की परीक्षा 21, 22, 23 जनवरी, 2019 को होगी. अगर साढ़े तीन महीने का औसत निकालें, तो रिज़ल्ट आते-आते मई, 2019 हो जाएगा. उस समय देश में लोकसभा का चुनाव हो रहा होगा. मई 2019 में रिज़ल्ट आ भी जाएगा, तो अभी मनोवैज्ञानिक और मेडिकल जांच बाकी है. उसके बाद दस्तावेज़ का सत्यापन होगा. कुल मिलाकर अगस्त, 2019 से पहले अंतिम रिज़ल्ट आने की संभावना नहीं है. इनकी ज्वाइनिंग कब होगी, यह तो रेलमंत्री ही जानें. बशर्ते, उन्हें यही पता हो कि अगली बार भी वही रेलमंत्री बनेंगे या नहीं.

इसलिए मेरा तर्क यह है कि रेलमंत्री प्रचार पर कम ध्यान दें और काम पर ज्यादा. रेल बोर्ड से पूछें कि गरीब और साधारण परिवार के छात्रों को 2,000 किलोमीटर भेजने का क्या तुक है. किस तरह से यह ऑनलाइन परीक्षा है, जिसके लिए किसी को 35 घंटे, तो किसी को 40 घंटे की यात्रा करनी पड़ रही है. बेपरवाही की भी हद होती है. अनगिनत महापुरुषों की जयंती और पुण्यतिथि पर ट्वीट करने वाले रेलमंत्री को इन छात्रों की समस्या पर ट्वीट करना चाहिए और समाधान निकालना चाहिए.
प्रतियोगिताओं में भाग लें: हालाँकि इसमें आपको जीते बिना पैसे नही मिलंगे। आपके कार्यक्षेत्र जैसे फोटोग्राफी, लोगो बनाना, बैकग्राउंड निर्माण में मौजूद "मुफ्त" प्रतिगिताओं की खोज करें और आपकी प्रतियों को ज्यादा से ज्यादा जगहों पर सबमिट करें। यह सब करने में एक पूरा दिन भी लग सकता हैं, लेकिन उनमें से कुछ सफल भी हो सकते है (या, शायद, बहुत सारे भी)। इससे मिलने वाला अनुभव आपको अन्य नए रचनात्मक रास्तो की खोज भी करा सकता है।
×