हाल ही में रेलमंत्री ने अपने ट्विटर हैंडल पर रोज़गार से संबंधित एक प्रचार वीडियो जारी किया, जिसकी भाषा से लगता है कि रेलवे ने एक लाख लोगों को रोज़गार दे ही दिया है. सहायक लोको पायलट और टेक्नीशियन के लिए फॉर्म भरने की अंतिम तारीख 31 मार्च, 2018 थी. इसके चार महीने बाद 9 से 13 अगस्त, 2018 के बीच पहली परीक्षा होती है. इस परीक्षा का रिज़ल्ट निकलता है 20 दिसंबर, 2018 को, यानी साढ़े तीन महीने बाद. अब दूसरे चरण की परीक्षा 21, 22, 23 जनवरी, 2019 को होगी. अगर साढ़े तीन महीने का औसत निकालें, तो रिज़ल्ट आते-आते मई, 2019 हो जाएगा. उस समय देश में लोकसभा का चुनाव हो रहा होगा. मई 2019 में रिज़ल्ट आ भी जाएगा, तो अभी मनोवैज्ञानिक और मेडिकल जांच बाकी है. उसके बाद दस्तावेज़ का सत्यापन होगा. कुल मिलाकर अगस्त, 2019 से पहले अंतिम रिज़ल्ट आने की संभावना नहीं है. इनकी ज्वाइनिंग कब होगी, यह तो रेलमंत्री ही जानें. बशर्ते, उन्हें यही पता हो कि अगली बार भी वही रेलमंत्री बनेंगे या नहीं.
प्रतियोगिताओं में भाग लें: हालाँकि इसमें आपको जीते बिना पैसे नही मिलंगे। आपके कार्यक्षेत्र जैसे फोटोग्राफी, लोगो बनाना, बैकग्राउंड निर्माण में मौजूद "मुफ्त" प्रतिगिताओं की खोज करें और आपकी प्रतियों को ज्यादा से ज्यादा जगहों पर सबमिट करें। यह सब करने में एक पूरा दिन भी लग सकता हैं, लेकिन उनमें से कुछ सफल भी हो सकते है (या, शायद, बहुत सारे भी)। इससे मिलने वाला अनुभव आपको अन्य नए रचनात्मक रास्तो की खोज भी करा सकता है।

अभी तक भले ही आप अपने आइडियाज को लांच करने में झिझक महसूस करते आये हों लेकिन अब आप जान चुके हैं कि ऑनलाइन बिज़नेस वो ऑप्शन है जिसमें आपको बहुत ज्यादा इन्वेस्ट करने की जरुरत नहीं है। थोड़ा पैसा और थोड़ा समय इन्वेस्ट करके भी आप इस बिजनेस को शुरू कर सकते हैं और अपने यूनिक आइडियाज और क्रिएटिव टैलेंट के दम पर आप इस बिजनेस को किस मुकाम पर ले जा सकते हैं, ये तो आपके अपने हाथ में है।
इसके अलावा, विज्ञापन की नौकरी भी हो सकती है जो कि शुरुआत और ऑनलाइन कैरियर को छलांग लगाने का एक अच्छा तरीका हो सकती है। वे फ्रीलान्स प्रकार की नौकरियां हैं जो आप शुरू कर सकते हैं वे आपको किसी विशिष्ट समय की स्टाम्प में लॉग इन करने की आवश्यकता नहीं करते हैं, आप किसी भी समय बिना नियत समय पर ब्रेक के लिए जा सकते हैं, और आप एक मालिक के साथ काम नहीं करते हैं जो हमेशा आपकी पीठ के पीछे छिपता रहता है और आपके हर कदम को देख रहा है। आमतौर पर, आप अपनी गति से काम करते हैं
कमाई के मौकों में ब्लॉगिंग, ट्यूटरिंग, रिसर्च, सर्वे, डिजिटल मार्केटिंग, वेबसाइट डिवेलपमेंट, डिजाइनिंग, फोटो एडिटिंग ऐंड सेलिंग जैसी चीजें शामिल हैं। आउटसोर्सिंग और स्टाफिंग फर्म टीमलीज सर्विसेज की सीनियर वीपी (एचआर) नीति शर्मा के मुताबिक, 'आपको अपनी स्किल, नॉलेज और ऐप्टिट्यूड के मुताबिक सही नौकरी चुननी चाहिए। यह ध्यान रखें कि आप आज जो कर रहे हैं वह शिक्षा पूरी होने के बाद आपके करियर और जीवन को आकार देगा।'

अपनी कार्य करने की आदतो के बारे में ईमानदार रहे। क्या आप स्वयं शुरुआत कर रहे है, क्या टेबल पर बैठ कर लगातार कार्य करने के लिए उचित स्वप्रेरित है, और बिना बॉस के होते हुए भी कार्य जो लगातार रख सकते है, क्या आपका ध्यान फोन, बच्चों, या वातावरण द्वारा आसानी से भंग हो जाता हैं? ऑनलाइन कार्य करते हुए आपकी लक्ष्यप्राप्ति के लिए अत्यधिक स्वप्रेरित होने की आवश्यकता होती हैं।
Digitize India Platform Online Registration – वे लोग जो ऑनलाइन डाटा एंट्री जॉब्स से पैसे कमाने की सोच रहे हैं,वे सभी लोग https://digitizeindia.gov.in/ की वेबसाइट से ऑनलाइन पैसा कमा सकते हैं। मैं उन्हें इस लेख में बताऊंगा कि कैसे आप डिजिटलीइज़ इंडिया प्लेटफार्म से किसी भी समय ऑनलाइन पैसा कमा सकते हैं। इस पोस्ट में, मैं आपको डिजिटाइज़ इंडिया प्लेटफॉर्म से संबंधित सभी सूचनाएं जैसे ऑनलाइन पंजीकरण और डाटा एंट्री के काम से आप ऑनलाइन कैसे पैसे कमा सकते हैं इसकी जानकारी प्रदान करूँगा।
इसलिए मेरा तर्क यह है कि रेलमंत्री प्रचार पर कम ध्यान दें और काम पर ज्यादा. रेल बोर्ड से पूछें कि गरीब और साधारण परिवार के छात्रों को 2,000 किलोमीटर भेजने का क्या तुक है. किस तरह से यह ऑनलाइन परीक्षा है, जिसके लिए किसी को 35 घंटे, तो किसी को 40 घंटे की यात्रा करनी पड़ रही है. बेपरवाही की भी हद होती है. अनगिनत महापुरुषों की जयंती और पुण्यतिथि पर ट्वीट करने वाले रेलमंत्री को इन छात्रों की समस्या पर ट्वीट करना चाहिए और समाधान निकालना चाहिए.
तो, ये ऑनलाइन पैसा कमाने के 10 आसान तरीके हैं (Top 10 Easy Ways To Earn Money Online in hindi) जिनका उपयोग करके आप बिना किसी  Investment के घर से ऑनलाइन पैसे कमा सकते हैं और हमें उम्मीद है कि ये तरीके आपकी बहुत मदद करेंगे। और अगर हमारी post को लेकर आपके मन मैं कोई सवाल हैं और अगर आपको कोई परेशनी आ रही हैं  तो आप हमे नीचे Comment Box मैं बता सकते हैं ।

माइक्रो जॉब ऐसी छोटी जॉब्स हैं जिनको कम्पलीट करने में मिनटों या सेकण्ड्स का समय लगता है। ऐसी बहुत  सी साइट्स हैं जो ऑनलाइन माइक्रो जॉब्स की सुविधा देती हैं। पेज शेयर करना, शोर्ट आर्टिकल लिखना, गूगल में कुछ सर्च करना, रेवेन्यु देना जैसे सैंकड़ों आसान कार्य इसके अंदर आते हैं।  ऐसी साइट्स पर रोजाना दो घंटे काम करके आप घर बैठ 8000 से 10000 रूपए प्रतिमाह कमा सकते हैं।
सर्च इंजिन अनुकूलन सीखे: चाहे ऑनलाइन चुनें या आपके स्थानीय कॉलेज के द्वारा प्रदत्त कोर्स करें, ऑनलाइन जगत में स्वयं को स्थवित करने के लिए सर्च इंजिन अनुकूलन (SEO) के बारे में ज्ञान होना अतिआवश्यक हैं। सर्च इंजिन अनुकूलन (SEO) के बारे में जान कर आप अपने व्यवसाय को गूगल के सर्च इंजिन पर लोगो द्वारा खोजे जाने वाले संकेतशब्दो के आधार पर संभावित ग्राहकों का ध्यान ज्यादा प्रभावी तौर पर आकर्षित कर सकते हैं।
ऐसे बहुत से लोग हैं जो लिखने में रूचि रखते हैं, यह ऑनलाइन जॉब उनके लिए है जिनकी रूचि लिखने में है। इस समय ऑनलाइन राइटिंग जॉब्स बहुत पोपुलर हो रही हैं। इन्टरनेट की हर वेबसाइट को अपडेट करने के लिए लगातार कंटेंट की ज़रूरत होती है। प्रत्येक आर्टिकल के लिए आपको 250 रूपए से 1000 रूपए मिल सकते हैं, आपके आर्टिकल की लम्बाई पर निर्भर करता है की आपको लिखे गये कंटेंट के कितने पैसे मिलेंगे। ऐसी कई साइट्स हैं जहाँ आप ऑनलाइन राइटिंग जॉब्स ढूंढ सकते हैं , अगर आपको इस जॉब के बारे में अधिक जानकारी नहीं है तो और आप सीखना चाहते हैं तो आप ब्लॉग को भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप लिखने में अच्छे हैं तो आप घर बैठे इस जॉब को करके पैसा कमा सकते हैं।
विशेषज्ञों से विचार विमर्श करें। यदि आपके किसी मित्र या सहकर्मी ने ऑनलाइन पैसे कमाने में सफलता हासिल की हैं, उनके ज्ञान और अनुभव का फायदा उठायें। पता करने की कोशिश करे कि किस चीज से उन्हें फायदा हुआ और क्या बाते नुकसान पहुँचा सकती हैं। आपके ऑनलाइन व्यापार क्षेत्र के बारे में ज्यादा से ज्यादा ज्ञान पाने की कोशिश करें ये आपके व्यापार में इजाफा करेगा।
अगस्त, 2018 में खुद रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ही ट्वीट किया था कि 74 फीसदी छात्र परीक्षा में शामिल हुए. यानी 47.56 लाख छात्रों में से 26 प्रतिशत परीक्षा देने से वंचित रह गए. इस तरह बिना इम्तिहान दिए ही 12 लाख से अधिक छात्र बाहर हो गए. जब पहले चरण की परीक्षा का रिज़ल्ट आया, तो 12 लाख छात्र ही दूसरे चरण के लिए चुने गए. अब जब संख्या छोटी हो गई, तो इनके सेंटर तो राज्य के भीतर दिए जा सकते थे. अगर नकल गिरोह से बचाने का तर्क है, तो यह बेतुका है, क्योंकि आजकल ऐसे गिरोह अखिल भारतीय स्तर पर चल रहे हैं, इसलिए सरकार को अपने सेंटर की निगरानी बेहतर करनी चाहिए, न कि छात्रों को 2,000 किलोमीटर दूर भेजकर परेशान करना चाहिए.
डोमेन नाम बदलना: डोमेन नाम इंटरनेट जगत के मूल्यवान रियल एस्टेट हैं और कुछ लोग इन्हें बेच और खरीद के अच्छी कीमत कमा रहे हैं। रणनीति के लिए आप गूगल एडवर्ड का इस्तेमाल कर ज्यादा चलन में आ रहे संकेत शब्दों (Keywords) को खोज सकते हैं और अनुमान लगा सकते है कि कौनसे डोमेन नाम की भविष्य में मांग हो सकती हैं। हालाँकि छोटे, रोचक, या सीधे अच्छे डोमेन नाम पहले ही लिए जा चुके हैं, लेकिन फिर भी आप कोई भी आधिवर्णिक (Random acronyms) डोमेन भी ले सकते हैं, जैसे कि कोई नही जानते कि कब किसी व्यक्ति या कंपनी को अपनी वेबसाइट बनाने के लिए उसी नाम की जरूरत हो जाये। (उदहारण के लिए, CPC.com, जो ₹1,20,00000 में बिका था जब कॉन्ट्रैक्ट फार्मास्युटिकल कॉर्पोरेशन ने ऑनलाइन आने का निर्णय लिया।[१] तीन अक्षरो के लिए यह कीमत बुरी नहीं हैं।)
×