दोस्तों यदि आप किसी एक क्षेत्र में विशेष जानकारी रखते हैं चाहे वह किसी भी क्षेत्र की क्यों ना हो तो आप एक कंसलटेंट का काम कर सकते हैं यानी आप लोगों को उस क्षेत्र में सलाह दे सकते हैं. इसके लिए आपको हो सकता है कुछ समय जरूर लगेगा पैसे कमाने के लिए जैसे-जैसे आपके नेटवर्क बढ़ते जाएंगे वैसे-वैसे आपकी इनकम बढ़ती जाएगी. इसके लिए आपको इंटरनेट की दुनिया में अपनी पहचान बनानी होगी तभी लोग आपसे सलाह लेना शुरू करेंगे पहले अपने पर्सनल नेटवर्क में सलाह देना शुरु कीजिए फिर उनसे कहना शुरू करें कि वह अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को बताएं कि आप क्या करते हैं.
हालांकि, एक उपभोक्ता को सलाह दी जाती है कि, तथ्य की बात के रूप में, अत्यधिक अनुशंसा की जाती है कि वह तुरंत उसकी पेशकश को वापस न दें। इसका कारण यह है कि ज्यादातर प्रस्तावित प्रस्ताव उन्हें असली धन अर्जित करने में सक्षम हैं। इसके अतिरिक्त, उन अधिकांश साइटों को जिन पर पंजीकरण की आवश्यकता होती है, नौकरी के लिए सबसे स्थिर ऑनलाइन साइटों में से एक माना जाता है इस प्रकार, ऑनलाइन पैसा बनाने से पहले, ऑनलाइन ऑनलाइन समीक्षाओं के माध्यम से पढ़ने के लिए बेहतर है
माइक्रो जॉब ऐसी छोटी जॉब्स हैं जिनको कम्पलीट करने में मिनटों या सेकण्ड्स का समय लगता है। ऐसी बहुत  सी साइट्स हैं जो ऑनलाइन माइक्रो जॉब्स की सुविधा देती हैं। पेज शेयर करना, शोर्ट आर्टिकल लिखना, गूगल में कुछ सर्च करना, रेवेन्यु देना जैसे सैंकड़ों आसान कार्य इसके अंदर आते हैं।  ऐसी साइट्स पर रोजाना दो घंटे काम करके आप घर बैठ 8000 से 10000 रूपए प्रतिमाह कमा सकते हैं।
कई कंपनियां डेटा एंट्री ट्रांसक्रिप्ट या ऑडियो डेटा लिखने जैसे कार्यों को आउटसोर्स करना चाहती हैं। यह उतना ही सरल है जितना कि आप उन्हें फाइलें भेजते हैं, और आप उनके सॉफ्टवेयर का उपयोग करके डेटा दर्ज करते हैं, या ऑडियो क्लिप को नोट करते हैं। छात्रों के लिए निवेश के बिना ऑनलाइन डेटा प्रविष्टि नौकरियां ऑनलाइन पैसे कमाने का सबसे आसान और सबसे किफायती तरीका है।
तीन साल पहले ग्रैजुएशन करने के दौरान पुणे में रहने वाले गौरव जाजू ने घर पर ही बच्चों को साइंस पढ़ाना शुरू किया ताकि कुछ पैसे कमाए जा सकें। इस एक्सपीरियंस से उन्हें मदद मिली। अब फार्मेसी में मास्टर डिग्री ले रहे जाजू खाली वक्त में स्टूडेंट्स के लिए ऑनलाइन लेक्चर चलाते हैं। वह एक साइट पर रजिस्टर्ड हैं, जिसके जरिए उन्हें स्टूडेंट्स मिलते हैं और उनके पैरंट्स पढ़ाई के बारे में उनसे संपर्क कर सकते हैं। इससे न केवल उन्हें अहम टीचिंग एक्सपीरियंस मिल रहा है, बल्कि वह हर महीने 15,000 रुपये तक की कमाई भी कर लेते हैं।

इंटरनेट मार्केटिंग – इंटरनेट के इस ज़माने में मार्केटिंग में भी इंटरनेट की मदद की ज़रूरत पड़ती है। ऐसे में डिजिटल मार्केटिंग या इंटरनेट मार्केटिंग एक बहुत बड़ा एरिया बन गया है क्योंकि इंटरनेट पर मौजूद हर एक कंपनी या वेबसाइट को इस इंटरनेट मार्केटिंग का सहारा लेना ही पड़ता है। प्रोडक्ट्स, सर्विसेज, वेबसाइट, एप्प की ऑनलाइन मार्केटिंग का तरीका है इंटरनेट मार्केटिंग, जिसे बहुत आसानी से और कम समय में सीखा जा सकता है।


आज आसानी से पैसे कमाने का सबसे उत्तम तरीका है, अमेज़न पर उपलब्ध डील्स और उत्पादों की जानकारी दूसरों तक पहुँचाना। यहाँ हम आपको सिखाएंगे की कैसे आप अमेज़न एफिलिएट बनकर पैसा कमा सकते है। इसका फायदा ये है कि कोई भी पैसे कमा सकता है। चाहे आप छात्र हो जिसको पॉकेट मनी की जरूरत है, या गृहणी हो जिसको पैसे कमाने का ज़रिया चाहिए, अगर आप पैसा कमाना चाहते हैं, तो कमायेंगे।
ऑनलाइन सर्वे भी ऑनलाइन पैसे कमाने का एक बहुत अच तरीका है। ऑनलाइन सर्वे में कम्पनियां अपने प्रोडक्ट के बारे में तथा अपनी सर्विस के बारे में आपका विचार जानने की कोशिश करती हैं, ताकि इसकी मदद से वो अपनी सेल्स को बाधा सकें। ऐसी कई मल्टीनेशनल कम्पनीज में Sign Up कर सकते हैं जो ऑनलाइन सर्वे की सुविधा दे रही हैं। एक बार ऑनलाइन कंपनी के सर्वे से जुड़ने के बाद कंपनी आपके ईमेल में सर्वे भेजेगी। कंपनी द्वारा दिए गए सर्वे को पूरा करने के बाद आप अपने पैसे कंपनी से ले सकते हैं। सिर्फ कुछ ही कंपनियां ऐसी हैं जो सर्वे की सुविधा देती हैं और उनके पैसे देती हैं। ऑनलाइन सर्च करने पर आपको ऐसी हजारों सर्वे साइट्स मिल जाएंगी, जो वास्तविक नहीं हैं, ऐसी साइट्स आपको रजिस्ट्रेशन अम्मौंत देने को कहेंगी।
पिछले साल रेलवे ने 64,317 पदों की वेकेंसी निकाली थी, जिसकी पहली परीक्षा अगस्त, 2018 में हुई. 31 मार्च तक फार्म भरे गए थे. 47 लाख से अधिक छात्रों ने फार्म भरे थे. इन सबका सेंटर अचानक 1,500-2,000 किलोमीटर दूर दे दिया गया. किसी को ट्रेन में रिज़र्वेशन नहीं मिला, तो किसी के पास टिकट के पैसे नहीं थे. किसी तरह इम्तिहान देने पहुंचे, तो रात प्लेटफार्म पर गुज़ारी. बहुत से छात्रों का इम्तिहान इसलिए छूट गया कि उनकी ट्रेन लेट हो गई. छात्र चिल्लाते रहे, रोते रहे, रेलमंत्री को ट्वीट करते रहे, मगर किसी को कुछ फर्क नहीं पड़ा.
एजुकेशन के लिए साल 2017 खास बदलावों के नाम रहा। शिक्षा विभाग से लेकर शहर के विभिन्न शैक्षिक संस्थानों में शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए काफी महत्वपूर्ण कदम उठाए गए। माध्यमिक शिक्षा विभाग में ऑनलाइन केंद्र बनाने का निर्णय लिया गया तो सारी प्रतियोगी परीक्षाओं में आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया। वहीं छात्रों की शिकायत के निस्तारण के लिए विशेष कॉल सेंटर खोलने पर भी मुहर लगाई गई। इस साल 2017 में शिक्षा में बदलाव के लिए हुए प्रयासों पर विशेष रिपोर्ट:
अब आप सोच रहे होंगे कि अपने प्रोडक्ट के बारे में किसे बताएं और फोटो किसे दें तो हम आपकी जानकारी के लिए बता देना चाहते हैं भारत में आज के समय में कई सारी कंपनियां लोगों का ऑनलाइन सामान सेल कराती हैं इनमें से… फ्लिपकार्ट, अमेज़न, स्नैपडील, शॉपक्लूज आदि कंपनी आपके सामान को इंटरनेट की दुनिया में सेल करने का काम करती है जिससे आपकी ऑनलाइन इनकम होना शुरू हो जाएगी.

प्राथमिक वार्तालाप के बाद भी ग्राहकों से जुड़े रहें। क्योंकि आप अपने ग्राहकों से आमने सामने नही मिल पा रहे हैं, अतः प्राथमिक बातचीत के बाद आपको उनसे लगातार जुड़े रहना चाहिए (लेकिन यह उनके लिए परेशानी का सबब भी नही बनना चाहिए)। ग्राहक के साथ शुरूआती वार्तालाप के कुछ समय पश्चात आप उन्हें इस वार्तालाप के बारे में याद दिलाने के लिए धन्यवाद ईमेल लिख सकते है, साथ ही उन्हें अतिरिक्त सवाल पुछने के लिए भी कह सकते हैं साथ ही आपके संभावित ग्राहक को आपके द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवा के बारे में अपने उत्साह को बता सकते है।
इसके अलावा, विज्ञापन की नौकरी भी हो सकती है जो कि शुरुआत और ऑनलाइन कैरियर को छलांग लगाने का एक अच्छा तरीका हो सकती है। वे फ्रीलान्स प्रकार की नौकरियां हैं जो आप शुरू कर सकते हैं वे आपको किसी विशिष्ट समय की स्टाम्प में लॉग इन करने की आवश्यकता नहीं करते हैं, आप किसी भी समय बिना नियत समय पर ब्रेक के लिए जा सकते हैं, और आप एक मालिक के साथ काम नहीं करते हैं जो हमेशा आपकी पीठ के पीछे छिपता रहता है और आपके हर कदम को देख रहा है। आमतौर पर, आप अपनी गति से काम करते हैं
इसलिए मेरा तर्क यह है कि रेलमंत्री प्रचार पर कम ध्यान दें और काम पर ज्यादा. रेल बोर्ड से पूछें कि गरीब और साधारण परिवार के छात्रों को 2,000 किलोमीटर भेजने का क्या तुक है. किस तरह से यह ऑनलाइन परीक्षा है, जिसके लिए किसी को 35 घंटे, तो किसी को 40 घंटे की यात्रा करनी पड़ रही है. बेपरवाही की भी हद होती है. अनगिनत महापुरुषों की जयंती और पुण्यतिथि पर ट्वीट करने वाले रेलमंत्री को इन छात्रों की समस्या पर ट्वीट करना चाहिए और समाधान निकालना चाहिए.

चाहे आप किसी भी ऑनलाइन कार्य के लिए प्रयास कर रहे हैं, पहला प्रभाव अच्छा बनाएँ: किसी भी व्यवसाय, आपके ब्रांड (वेबसाइट, स्टोर, काल्पनिक पोर्टफोलियो इत्यादि) के लिए संभावनाओं का ध्यान आकर्षित करना होगा, उन्हें अधिक जानने के लिए प्रलोभित और प्रोत्साहित करना होगा। एक अच्छा ब्रांड में केवल चतुराईपूर्ण और व्यावहारिक चीजे ही लिखी होती हैं, उत्पाद के बारे में जानकारी, उत्पाद अवलोकन (overview), और समाचार और जानकारी, और संपर्क करने के तरीके दिखाए होते हैं।
×