ऑनलाइन सामान बेचना – अगर आप किसी प्रोडक्ट को बनाने में महारत रखते हैं और आपको सिर्फ ऐसे प्लेटफार्म की जरुरत है जहाँ आपके प्रोडक्ट को लाखों लोग देख सके और खरीद सके तो इसके लिए आप ई-कॉमर्स वेबसाइट पर ऑनलाइन सेलर के रूप में अपने प्रोडक्ट्स बेच सकते हैं। ऐसा करने पर आप बिना खर्च के, लाखों लोगों तक अपने प्रोडक्ट्स की पहुँच बना पाएंगे और अपने प्रोडक्ट्स को ऑनलाइन बेचकर काफी अच्छा पैसा कमा सकेंगे।


यदि आप अभी कुछ समय से इंटरनेट का उपयोग कर रहे हैं, और आप ऑनलाइन पैसा बनाने का इरादा रखते हैं, तो आप निश्चित रूप से इसके बारे में सुना होगा Clickbank। यह एक ऐसी कंपनी है जो दोनों विक्रेताओं के साथ-साथ सहयोगियों को भी मदद कर सकती है। यदि आप क्या चाहते हैं तो किसी को अपने उत्पादों को बेचने में मदद करना है, तो यह कंपनी आपकी सहायता कर सकती है। यदि आप दूसरों को अपने आइटम को बढ़ावा देने और बेचने के लिए करना चाहते हैं, तो यह एक ऐसा मार्ग भी है जिसे लिया जा सकता है।

इंटरनेट की दुनिया में आप हर तरह की जानकारी हासिल कर सकते हैं. बिजनेस शुरू करने जा रहे लोगों के लिए भी इंटरनेट एक अच्छा सोर्स है. यहां से आप जिस तरह का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं उसकी जानकारी लेकर अपनी स्ट्रैटजी मजबूत बना सकते हैं. ये ही नहीं, आपको यहां बिजनेस आइडिया भी मिलेगा. हम आपको ऐसे बिजनेस की जानकारी दे रहे हैं, जो घर बैठे बिना इन्वेस्टमेंट के किए जा सकते हैं, लेकिन उसके लिए आपको इंटरनेट की मदद लेनी होगी.

पिछले साल रेलवे ने 64,317 पदों की वेकेंसी निकाली थी, जिसकी पहली परीक्षा अगस्त, 2018 में हुई. 31 मार्च तक फार्म भरे गए थे. 47 लाख से अधिक छात्रों ने फार्म भरे थे. इन सबका सेंटर अचानक 1,500-2,000 किलोमीटर दूर दे दिया गया. किसी को ट्रेन में रिज़र्वेशन नहीं मिला, तो किसी के पास टिकट के पैसे नहीं थे. किसी तरह इम्तिहान देने पहुंचे, तो रात प्लेटफार्म पर गुज़ारी. बहुत से छात्रों का इम्तिहान इसलिए छूट गया कि उनकी ट्रेन लेट हो गई. छात्र चिल्लाते रहे, रोते रहे, रेलमंत्री को ट्वीट करते रहे, मगर किसी को कुछ फर्क नहीं पड़ा.
अगस्त, 2018 में खुद रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ही ट्वीट किया था कि 74 फीसदी छात्र परीक्षा में शामिल हुए. यानी 47.56 लाख छात्रों में से 26 प्रतिशत परीक्षा देने से वंचित रह गए. इस तरह बिना इम्तिहान दिए ही 12 लाख से अधिक छात्र बाहर हो गए. जब पहले चरण की परीक्षा का रिज़ल्ट आया, तो 12 लाख छात्र ही दूसरे चरण के लिए चुने गए. अब जब संख्या छोटी हो गई, तो इनके सेंटर तो राज्य के भीतर दिए जा सकते थे. अगर नकल गिरोह से बचाने का तर्क है, तो यह बेतुका है, क्योंकि आजकल ऐसे गिरोह अखिल भारतीय स्तर पर चल रहे हैं, इसलिए सरकार को अपने सेंटर की निगरानी बेहतर करनी चाहिए, न कि छात्रों को 2,000 किलोमीटर दूर भेजकर परेशान करना चाहिए.

यदि आप फोटोग्राफी में अच्छे हैं, या अपने सेल फोन कैमरे के साथ बहुत चालाक हैं, तो आप अपनी तस्वीरों के लिए पैसे कमा सकते हैं। जिस तरह से यह काम करता है वह यह है कि आप एक खाता बनाते हैं और अपनी तस्वीरें नीचे सूचीबद्ध साइटों में से एक पर अपलोड करते हैं। लोग तस्वीरों का उपयोग करने के अधिकार खरीदने के लिए इन साइटों पर आते हैं और आपको डाउनलोड करने के लिए भुगतान किया जाता है। इतना सरल है।

एजुकेशन के लिए साल 2017 खास बदलावों के नाम रहा। शिक्षा विभाग से लेकर शहर के विभिन्न शैक्षिक संस्थानों में शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए काफी महत्वपूर्ण कदम उठाए गए। माध्यमिक शिक्षा विभाग में ऑनलाइन केंद्र बनाने का निर्णय लिया गया तो सारी प्रतियोगी परीक्षाओं में आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया। वहीं छात्रों की शिकायत के निस्तारण के लिए विशेष कॉल सेंटर खोलने पर भी मुहर लगाई गई। इस साल 2017 में शिक्षा में बदलाव के लिए हुए प्रयासों पर विशेष रिपोर्ट:


हाल ही में रेलमंत्री ने अपने ट्विटर हैंडल पर रोज़गार से संबंधित एक प्रचार वीडियो जारी किया, जिसकी भाषा से लगता है कि रेलवे ने एक लाख लोगों को रोज़गार दे ही दिया है. सहायक लोको पायलट और टेक्नीशियन के लिए फॉर्म भरने की अंतिम तारीख 31 मार्च, 2018 थी. इसके चार महीने बाद 9 से 13 अगस्त, 2018 के बीच पहली परीक्षा होती है. इस परीक्षा का रिज़ल्ट निकलता है 20 दिसंबर, 2018 को, यानी साढ़े तीन महीने बाद. अब दूसरे चरण की परीक्षा 21, 22, 23 जनवरी, 2019 को होगी. अगर साढ़े तीन महीने का औसत निकालें, तो रिज़ल्ट आते-आते मई, 2019 हो जाएगा. उस समय देश में लोकसभा का चुनाव हो रहा होगा. मई 2019 में रिज़ल्ट आ भी जाएगा, तो अभी मनोवैज्ञानिक और मेडिकल जांच बाकी है. उसके बाद दस्तावेज़ का सत्यापन होगा. कुल मिलाकर अगस्त, 2019 से पहले अंतिम रिज़ल्ट आने की संभावना नहीं है. इनकी ज्वाइनिंग कब होगी, यह तो रेलमंत्री ही जानें. बशर्ते, उन्हें यही पता हो कि अगली बार भी वही रेलमंत्री बनेंगे या नहीं.
ऐसे बहुत से लोग हैं जो लिखने में रूचि रखते हैं, यह ऑनलाइन जॉब उनके लिए है जिनकी रूचि लिखने में है। इस समय ऑनलाइन राइटिंग जॉब्स बहुत पोपुलर हो रही हैं। इन्टरनेट की हर वेबसाइट को अपडेट करने के लिए लगातार कंटेंट की ज़रूरत होती है। प्रत्येक आर्टिकल के लिए आपको 250 रूपए से 1000 रूपए मिल सकते हैं, आपके आर्टिकल की लम्बाई पर निर्भर करता है की आपको लिखे गये कंटेंट के कितने पैसे मिलेंगे। ऐसी कई साइट्स हैं जहाँ आप ऑनलाइन राइटिंग जॉब्स ढूंढ सकते हैं , अगर आपको इस जॉब के बारे में अधिक जानकारी नहीं है तो और आप सीखना चाहते हैं तो आप ब्लॉग को भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप लिखने में अच्छे हैं तो आप घर बैठे इस जॉब को करके पैसा कमा सकते हैं।
आपने आज तक बहुत सारी पोस्ट पढ़ी होंगी, हाउ टू अर्न मनी ऑनलाइन, इंटरनेट की दुनिया में कैसे पैसे कमाएं, ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीके… सभी में आपको कई सारे तरीकों के बारे में बताया गया होगा परंतु जो तरीके हम आपको बताने जा रहे हैं वह बेहद ही सरल और जल्दी से होने वाले हैं उन में किसी भी प्रकार का पैसा खर्च नहीं होगा सिर्फ आप समय लगा करके ही बहुत सारे पैसे कमा सकते हैं.

डोमेन नाम बदलना: डोमेन नाम इंटरनेट जगत के मूल्यवान रियल एस्टेट हैं और कुछ लोग इन्हें बेच और खरीद के अच्छी कीमत कमा रहे हैं। रणनीति के लिए आप गूगल एडवर्ड का इस्तेमाल कर ज्यादा चलन में आ रहे संकेत शब्दों (Keywords) को खोज सकते हैं और अनुमान लगा सकते है कि कौनसे डोमेन नाम की भविष्य में मांग हो सकती हैं। हालाँकि छोटे, रोचक, या सीधे अच्छे डोमेन नाम पहले ही लिए जा चुके हैं, लेकिन फिर भी आप कोई भी आधिवर्णिक (Random acronyms) डोमेन भी ले सकते हैं, जैसे कि कोई नही जानते कि कब किसी व्यक्ति या कंपनी को अपनी वेबसाइट बनाने के लिए उसी नाम की जरूरत हो जाये। (उदहारण के लिए, CPC.com, जो ₹1,20,00000 में बिका था जब कॉन्ट्रैक्ट फार्मास्युटिकल कॉर्पोरेशन ने ऑनलाइन आने का निर्णय लिया।[१] तीन अक्षरो के लिए यह कीमत बुरी नहीं हैं।)
×