इंटरनेट के जरिए योगा के बेसिक्स क्लियर कीजिए और ऑनलाइन योगा क्लासेज का बिजनेस शुरू कीजिए. इंटरनेट के साथ-साथ आप योगा एक्सपर्ट्स की किताब का भी सहारा ले सकते हैं. आज कल लोग ऑनलाइन योगा को ढूंढकर घर पर एक्सरसाइज करना चाहते हैं. ऐसे में आप अपनी क्लासेज से उन्हें स्काइप या सीडी के जरिए अपना इंस्ट्रक्टिव प्रोग्राम भेज सकते हैं. इससे लोग आपसे जुड़ेंगे और आप घर बैठे पैसा कमा सकते हैं.
यह परामर्श वाले नौकरियों से अंशकालिक परियोजना के अवसरों को फ्रीलान्स लिखने से भिन्न हो सकता है जो विशेषज्ञता के अपने क्षेत्र की देखभाल करते हैं। इसके अलावा, आप सौदा ऑनलाइन बिक्री कर सकते हैं यदि आपके पास पुरानी सीडीएस या किताबें हैं जो आपको लगता है कि अगली पीढ़ी के छात्रों द्वारा उपयोग किया जा सकता है, तो आप अपने अतिरिक्त नकद तेजी से कमाई शुरू करने के लिए किसी भी ऑनलाइन बोली-प्रक्रिया वेब पृष्ठों पर नीलामी चला सकते हैं। दूसरी तरफ, उद्योग में बहुत सारी बड़ी लाइब्रेरी हैं जो आपको अपनी पुस्तकों को भी उन्हें बेचने की अनुमति दे सकती हैं।
डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति NDTV उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार NDTV के नहीं हैं, तथा NDTV उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.
आज आसानी से पैसे कमाने का सबसे उत्तम तरीका है, अमेज़न पर उपलब्ध डील्स और उत्पादों की जानकारी दूसरों तक पहुँचाना। यहाँ हम आपको सिखाएंगे की कैसे आप अमेज़न एफिलिएट बनकर पैसा कमा सकते है। इसका फायदा ये है कि कोई भी पैसे कमा सकता है। चाहे आप छात्र हो जिसको पॉकेट मनी की जरूरत है, या गृहणी हो जिसको पैसे कमाने का ज़रिया चाहिए, अगर आप पैसा कमाना चाहते हैं, तो कमायेंगे।
जब आपके पास एक वेबसाइट है जो विशेष वस्तुओं की समीक्षा करता है, तो आप उन चीज़ों पर पैसा बनाने के लिए क्लिकबैंक का लाभ ले सकते हैं जो आप करते हैं क्लिकबैंक का उपयोग करके उन वस्तुओं की समीक्षा देकर, जिन्हें आप क्लिकबैंक का उपयोग करना चाहते हैं, आप लोगों के लिए जगह बना रहे हैं ताकि वे यह जान सकें कि उनका पैसा कैसे खर्च किया जाना चाहिए। इस रणनीति में सफलता की कुंजी, वास्तविक समीक्षाएं तैयार कर रही है जो पाठकों के साथ विश्वास पैदा कर सकती है।
सर्च इंजिन अनुकूलन सीखे: चाहे ऑनलाइन चुनें या आपके स्थानीय कॉलेज के द्वारा प्रदत्त कोर्स करें, ऑनलाइन जगत में स्वयं को स्थवित करने के लिए सर्च इंजिन अनुकूलन (SEO) के बारे में ज्ञान होना अतिआवश्यक हैं। सर्च इंजिन अनुकूलन (SEO) के बारे में जान कर आप अपने व्यवसाय को गूगल के सर्च इंजिन पर लोगो द्वारा खोजे जाने वाले संकेतशब्दो के आधार पर संभावित ग्राहकों का ध्यान ज्यादा प्रभावी तौर पर आकर्षित कर सकते हैं।
ग्वालियर के एक छात्र को असम के तेजपुर में सेंटर दिया गया है. बिहार के खगड़िया के छात्र को 1,700 किलोमीटर दूर आंध्र प्रदेश के राजामुंदरी में सेंटर दिया गया है. खगड़िया से एक भी ट्रेन वहां नहीं जाती है. जोधपुर के छात्र को 2,000 किलोमीटर दूर ओडिशा के राउरकेला भेजा गया है. 35 घंटे की यात्रा है और दूरी 2,000 किलोमीटर की. इस छात्र ने रेलमंत्री को ट्वीट किया है कि किसी ट्रेन में टिकट भी नहीं है. बंगाल के छात्र को तमिलनाडु के तिरुनेल्वेली सेंटर दिया गया है. ट्रेन में टिकट नहीं है. पश्चिम बंगाल के छात्र का सेंटर मुंबई दिया गया है. झांसी का छात्र हैदराबाद जाए और पश्चिम बंगाल का पुणे. पटना के मनीष को केरल के एरनाकुलम जाना होगा. जयपुर के छात्र को कोलकाता जाना होगा. गंगासागर के मेले के कारण कोलकाता जाने वाली ट्रेन में टिकट नहीं है. बंगाल के मुर्शिदाबाद का छात्र बेंगलुरू कैसे जाएगा. रेलमंत्री खुद अपनी टाइमलाइन पर यह सब देख सकते हैं.
लेख बेचें: बहुत सारे छोटे व्यवसाय, वेबसाइट, और व्यापारी अच्छे लेख और आसान संकेतशब्द के साथ लिखे हुए लेख खोजते हैं जिनसे उनको ज्यादा ट्रैफिक मिल सकें। हालाँकि शुरुआत में आप इससे ज्यादा नहीं कमा पाएँगे, सारे लेख मुख्यतः 200-300 शब्दों के होंगे जिन्हें जल्दी से लिखा जा सकता हैं। एक बार आप खुद को साबित कर देंगे तत्पश्चात आप अपनी सेवाओं के लिए ज्यादा कीमत की मांग भी कर सकते है। यदि आप कुशल और अनुभवी लेखक है, तो आप अपने कार्यो को आधिकारिक प्रकाशन को भी दे सकते है।
इंडिया में और पूरी दुनिया में बहुत सारी डाटा एंट्री जॉब्स मौजूद हैं। ऐसी सैंकड़ों कम्पनियां है जो वास्तविक नहीं है और लोगों को धोखा देती हैं, मार्किट में ऐसी कई फ्रॉड कम्पनियां है जिन्हें सिर्फ आपका रजिस्ट्रेशन अमाउंट चाहिए और अगर आप ऐसी किसी कंपनी का मेम्बर बन के उन्हें अपना रजिस्ट्रेशन अमाउंट दे देते हैं, तो इसके बाद ये कम्पनियां आपको कोई रेस्पोंड नहीं देंगी। ध्यान रखिये, किसी भी टाइपिंग जॉब या डाटा एंट्री जॉब के लिए कोई फीस मत दीजिये। गूगल की सहायता से कंपनी की रेप्युटेशन चेक करने के बाद ही कोई निर्णय लें।

जब आपके पास एक वेबसाइट है जो विशेष वस्तुओं की समीक्षा करता है, तो आप उन चीज़ों पर पैसा बनाने के लिए क्लिकबैंक का लाभ ले सकते हैं जो आप करते हैं क्लिकबैंक का उपयोग करके उन वस्तुओं की समीक्षा देकर, जिन्हें आप क्लिकबैंक का उपयोग करना चाहते हैं, आप लोगों के लिए जगह बना रहे हैं ताकि वे यह जान सकें कि उनका पैसा कैसे खर्च किया जाना चाहिए। इस रणनीति में सफलता की कुंजी, वास्तविक समीक्षाएं तैयार कर रही है जो पाठकों के साथ विश्वास पैदा कर सकती है।


ब्लॉगिंग – अगर आपको लिखने का शौक है और आप अपने विचार दुनिया के साथ शेयर करना चाहते है तो इसके लिए ब्लॉगिंग एक बेहतरीन बिजनेस ऑप्शन है, जिसमें एक ब्लॉग या वेबसाइट बनाकर उस पर आर्टिकल्स पब्लिश किये जाते हैं और अगर आपके ब्लॉग लोगों को प्रेरित करते हैं तो आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर विजिटर की संख्या बढ़ती जाएगी और ऐसे में ब्लॉग पर विज्ञापन प्रदर्शित करके पैसा कमाना काफी आसान हो जाता है।

इसलिए मेरा तर्क यह है कि रेलमंत्री प्रचार पर कम ध्यान दें और काम पर ज्यादा. रेल बोर्ड से पूछें कि गरीब और साधारण परिवार के छात्रों को 2,000 किलोमीटर भेजने का क्या तुक है. किस तरह से यह ऑनलाइन परीक्षा है, जिसके लिए किसी को 35 घंटे, तो किसी को 40 घंटे की यात्रा करनी पड़ रही है. बेपरवाही की भी हद होती है. अनगिनत महापुरुषों की जयंती और पुण्यतिथि पर ट्वीट करने वाले रेलमंत्री को इन छात्रों की समस्या पर ट्वीट करना चाहिए और समाधान निकालना चाहिए.

पिछले साल रेलवे ने 64,317 पदों की वेकेंसी निकाली थी, जिसकी पहली परीक्षा अगस्त, 2018 में हुई. 31 मार्च तक फार्म भरे गए थे. 47 लाख से अधिक छात्रों ने फार्म भरे थे. इन सबका सेंटर अचानक 1,500-2,000 किलोमीटर दूर दे दिया गया. किसी को ट्रेन में रिज़र्वेशन नहीं मिला, तो किसी के पास टिकट के पैसे नहीं थे. किसी तरह इम्तिहान देने पहुंचे, तो रात प्लेटफार्म पर गुज़ारी. बहुत से छात्रों का इम्तिहान इसलिए छूट गया कि उनकी ट्रेन लेट हो गई. छात्र चिल्लाते रहे, रोते रहे, रेलमंत्री को ट्वीट करते रहे, मगर किसी को कुछ फर्क नहीं पड़ा.
मई 2016 में उनकी कोशिशें रंग लाईं और स्टार्टअप को गूगल के एक प्रोग्राम के तहत छह महीने की मेंटरशिप मिली। इडिकुला के लिए यह सपना सच होने जैसा था। उन्हें लगता है कि एक ऑनलाइन वेंचर शुरू करने का फैसला सही था, जहां विज्ञापनों से कमाई की काफी संभावनाएं हैं। ऑनलाइन टेक्नॉलजी-इनेबल्ड एक्सपेरिमेंटल लर्निंग प्लेटफॉर्म टैलंटस्प्रिंट के सीईओ और एमडी शांतनु पॉल बताते हैं कि ऑनलाइन जॉब्स या बिजनस आइडियाज स्टूडेंट्स की स्टडी के एरिया, इंटरेस्ट और एक्सपर्टाइज के हिसाब से उपलब्ध हैं। पॉल के मुताबिक, 'ऑनलाइन काम भारतीय छात्रों के लिए अहम है। जॉब मार्केट में अपनी रोजगार योग्यता और आकर्षण बढ़ाने का अहम जरिया है। इससे आपको अपने पैरों पर खड़ा होने का मौका मिलता है।'
आपने आज तक बहुत सारी पोस्ट पढ़ी होंगी, हाउ टू अर्न मनी ऑनलाइन, इंटरनेट की दुनिया में कैसे पैसे कमाएं, ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीके… सभी में आपको कई सारे तरीकों के बारे में बताया गया होगा परंतु जो तरीके हम आपको बताने जा रहे हैं वह बेहद ही सरल और जल्दी से होने वाले हैं उन में किसी भी प्रकार का पैसा खर्च नहीं होगा सिर्फ आप समय लगा करके ही बहुत सारे पैसे कमा सकते हैं.
किसी भी ऑनलाइन कार्यक्रम में शामिल होने से पहले उसके बारे में आप अच्छी खोज कर लेवें। यदि कोई कंपनी कार्य शुरुआत से पहले संविदा अनुबन्ध के नाम पर पैसो की मांग करती हैं तो सचेत रहें और उस कंपनी के उपभोक्ता रिपोर्टों को भली भाँति जांच लें और कंपनी के बारे में लिखी गई ऑनलाइन टिप्पणियाँ देख लें। बहुत सी ऑनलाइन कंपनियाँ धोखाधड़ी करती हैं और बिना कोई कार्य प्रदान किये बिना आपके कुछ कीमत लेकर आपको जवाब देना बंद कर देती हैं।
यद्यपि वैश्विक बाजार इतनी ऊचाईयों पर भी नहीं पहुँचा है कि लोग अपने कार्यालय पहुँचने के लिए निजी छोटे स्पेसशिप का इस्तेमाल कर रहे हैं, लेकिन हाँ इसमें इतना परिवर्तन जरूर आ गया हैं कि कर्मचारियों को अपने स्वयं के कंप्यूटर और घर के आराम को नही छोड़ना पड़ता हैं। नीचे आप ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीके और ऑनलाइन विश्व में सफलता प्राप्त करने के लिए जरुरी सामान्य सलाहें देखेंगे।
×