पिछले साल रेलवे ने 64,317 पदों की वेकेंसी निकाली थी, जिसकी पहली परीक्षा अगस्त, 2018 में हुई. 31 मार्च तक फार्म भरे गए थे. 47 लाख से अधिक छात्रों ने फार्म भरे थे. इन सबका सेंटर अचानक 1,500-2,000 किलोमीटर दूर दे दिया गया. किसी को ट्रेन में रिज़र्वेशन नहीं मिला, तो किसी के पास टिकट के पैसे नहीं थे. किसी तरह इम्तिहान देने पहुंचे, तो रात प्लेटफार्म पर गुज़ारी. बहुत से छात्रों का इम्तिहान इसलिए छूट गया कि उनकी ट्रेन लेट हो गई. छात्र चिल्लाते रहे, रोते रहे, रेलमंत्री को ट्वीट करते रहे, मगर किसी को कुछ फर्क नहीं पड़ा.
ग्वालियर के एक छात्र को असम के तेजपुर में सेंटर दिया गया है. बिहार के खगड़िया के छात्र को 1,700 किलोमीटर दूर आंध्र प्रदेश के राजामुंदरी में सेंटर दिया गया है. खगड़िया से एक भी ट्रेन वहां नहीं जाती है. जोधपुर के छात्र को 2,000 किलोमीटर दूर ओडिशा के राउरकेला भेजा गया है. 35 घंटे की यात्रा है और दूरी 2,000 किलोमीटर की. इस छात्र ने रेलमंत्री को ट्वीट किया है कि किसी ट्रेन में टिकट भी नहीं है. बंगाल के छात्र को तमिलनाडु के तिरुनेल्वेली सेंटर दिया गया है. ट्रेन में टिकट नहीं है. पश्चिम बंगाल के छात्र का सेंटर मुंबई दिया गया है. झांसी का छात्र हैदराबाद जाए और पश्चिम बंगाल का पुणे. पटना के मनीष को केरल के एरनाकुलम जाना होगा. जयपुर के छात्र को कोलकाता जाना होगा. गंगासागर के मेले के कारण कोलकाता जाने वाली ट्रेन में टिकट नहीं है. बंगाल के मुर्शिदाबाद का छात्र बेंगलुरू कैसे जाएगा. रेलमंत्री खुद अपनी टाइमलाइन पर यह सब देख सकते हैं.
एप्प बेचें: करोड़ो लोगो के इस व्यापार स्थान में, ₹50-100 प्रति बिक्री भी आपकी कमाई को बहुत ऊपर तक ले जा सकती हैं। यदि आपके पास कोई शानदार विचार हैं लेकिन आप प्रोग्रामिंग के बारे में नही जानते, तो काम के लिए प्रोग्रामर को किराये पर रखना भी एक अच्छा विकल्प हैं। समान तरह की एप्प के बारे में भी खोजे और समीक्षा करें, और आपके प्रतिद्वंधियो से एक कदम आगे रहने के रास्ते खोजें, और जिन मोबाइल डिवाइस को आप एप्प बेचने जा रहे हैं उनकी कंपनी के नियमो का पालन करें।
आजकल हर व्यक्ति के पास Smartphone और Internet की सुविधा उपलब्ध है। पिछले कुछ साल से भारत में इंटरनेट users की संख्या अत्यधिक तेजी से बढ़ी है। इसलिए लोगों में यह जानने की इच्छा अत्यधिक है, की इंटरनेट से ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए जाते हैं इसलिए वह Search करते हैं की How to Earn Money from internet in hindi?, घर बैठे इंटरनेट से पैसे कैसे कमाएँ, गूगल से पैसे कैसे कमाएँ, इंटरनेट से पैसे कैसे कमाएँ, इस पोस्ट में आपको इन सभी सवालों के जवाब आसानी से मिल जाएंगे इसलिए आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ें।
एजुकेशन के लिए साल 2017 खास बदलावों के नाम रहा। शिक्षा विभाग से लेकर शहर के विभिन्न शैक्षिक संस्थानों में शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए काफी महत्वपूर्ण कदम उठाए गए। माध्यमिक शिक्षा विभाग में ऑनलाइन केंद्र बनाने का निर्णय लिया गया तो सारी प्रतियोगी परीक्षाओं में आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया। वहीं छात्रों की शिकायत के निस्तारण के लिए विशेष कॉल सेंटर खोलने पर भी मुहर लगाई गई। इस साल 2017 में शिक्षा में बदलाव के लिए हुए प्रयासों पर विशेष रिपोर्ट:
रेलमंत्री को अगर यह हिसाब तब भी समझ नहीं आता है, तो एक छात्र ने जो हिसाब भेजा है, वह दे देता हूं. बीकानेर से नागपुर जाने के लिए एक ही ट्रेन है, अणुव्रत एक्सप्रेस, जो हफ्ते में एक-दो दिन ही चलती है. एक तरफ से 26 घंटे का सफर है. दोनों तरफ का किराया मिलाकर टिकट पर सिर्फ 3,240 रुपये खर्च होंगे. 23 जनवरी को पहुंचने के लिए उसे 20 जनवरी को निकलना पड़ेगा, वापसी की ट्रेन 23 और 24 की नहीं है, तो नागपुर में दो दिन रुकना भी पड़ेगा. इस तरह एक परीक्षा देने में उसे सात दिन लगेंगे. 10,000 से अधिक रुपये खर्च हो जाएंगे. रेलमंत्री जी बताएं, एक छात्र को प्रयागराज से कर्नाटक के हुबली भेजने का क्या मतलब. 32 घंटे का सफर तय करना पड़ेगा. वह भी तब, जब आपकी ट्रेन समय से चली, जो चलती नहीं. राजस्थान के गंगानगर से किसी को केरल के कोच्चि में भेजने का क्या मतलब है. क्या इसी को ऑनलाइन इम्तिहान कहते हैं...?

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति NDTV उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार NDTV के नहीं हैं, तथा NDTV उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.
एलयू में इंजिनियरिंग फैकल्टी की शुरुआतलखनऊ विश्वविद्यालय (एलयू) ने छात्रों को विभागों के चक्कर न लगाने पड़े, इसके लिए यूनीक आईडी पोर्टल योजना की शुरुआत की। अब छात्रों को इस पोर्टल की सहायता से एक लॉग इन से सारी जानकारी मिलेगी। इसके अलावा शिकायत के लिए भी पोर्टल लॉन्च किया गया। एलयू में इंजिनियरिंग फैकल्टी की भी शुरुआत की गई, जिसकी पहली ही काउंसलिंग में सीटें भी फुल हो गईं। छात्रों को दीक्षांत में सिक्यॉरिटी फीचर वाली डिग्री और मार्कशीट दी गई। वहीं बीएलईडी का नया कोर्स भी सम्बद्ध कॉलेजों में शुरू किया गया।
कमाई के मौकों में ब्लॉगिंग, ट्यूटरिंग, रिसर्च, सर्वे, डिजिटल मार्केटिंग, वेबसाइट डिवेलपमेंट, डिजाइनिंग, फोटो एडिटिंग ऐंड सेलिंग जैसी चीजें शामिल हैं। आउटसोर्सिंग और स्टाफिंग फर्म टीमलीज सर्विसेज की सीनियर वीपी (एचआर) नीति शर्मा के मुताबिक, 'आपको अपनी स्किल, नॉलेज और ऐप्टिट्यूड के मुताबिक सही नौकरी चुननी चाहिए। यह ध्यान रखें कि आप आज जो कर रहे हैं वह शिक्षा पूरी होने के बाद आपके करियर और जीवन को आकार देगा।'
ऑनलाइन सर्वेक्षण लेने के साथ, आपको अपनी राय देने के लिए भुगतान किया जाता है। बाजार अनुसंधान कंपनियां आपकी प्रतिक्रिया का उपयोग उत्पादों या सेवाओं पर प्रतिक्रिया प्राप्त करने, नए उत्पाद या सेवाएं बनाने, या विभिन्न प्रकार के मुद्दों पर जनता की राय प्राप्त करने के लिए करती हैं। इन साइटों के भीतर पैसा बनाने के अन्य तरीके भी हैं। शुरू करने के लिए, आप बिना निवेश के ऑनलाइन कमाई के लिए सर्वश्रेष्ठ ऑनलाइन सर्वेक्षण पोर्टलों की मेरी सूची से परामर्श कर सकते हैं।
चाहे आप किसी भी ऑनलाइन कार्य के लिए प्रयास कर रहे हैं, पहला प्रभाव अच्छा बनाएँ: किसी भी व्यवसाय, आपके ब्रांड (वेबसाइट, स्टोर, काल्पनिक पोर्टफोलियो इत्यादि) के लिए संभावनाओं का ध्यान आकर्षित करना होगा, उन्हें अधिक जानने के लिए प्रलोभित और प्रोत्साहित करना होगा। एक अच्छा ब्रांड में केवल चतुराईपूर्ण और व्यावहारिक चीजे ही लिखी होती हैं, उत्पाद के बारे में जानकारी, उत्पाद अवलोकन (overview), और समाचार और जानकारी, और संपर्क करने के तरीके दिखाए होते हैं।
अगस्त, 2018 में खुद रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ही ट्वीट किया था कि 74 फीसदी छात्र परीक्षा में शामिल हुए. यानी 47.56 लाख छात्रों में से 26 प्रतिशत परीक्षा देने से वंचित रह गए. इस तरह बिना इम्तिहान दिए ही 12 लाख से अधिक छात्र बाहर हो गए. जब पहले चरण की परीक्षा का रिज़ल्ट आया, तो 12 लाख छात्र ही दूसरे चरण के लिए चुने गए. अब जब संख्या छोटी हो गई, तो इनके सेंटर तो राज्य के भीतर दिए जा सकते थे. अगर नकल गिरोह से बचाने का तर्क है, तो यह बेतुका है, क्योंकि आजकल ऐसे गिरोह अखिल भारतीय स्तर पर चल रहे हैं, इसलिए सरकार को अपने सेंटर की निगरानी बेहतर करनी चाहिए, न कि छात्रों को 2,000 किलोमीटर दूर भेजकर परेशान करना चाहिए.
इंटरनेट से पैसे कमाने के लिए कंटैंट राइटिंग आपके लिए एक बेहतर तरीका हो सकता है। इससे आप 15000 से 50000 तक आसानी से कमा सकते हैं। अगर आपको लिखना पसंद है तो आप कंटैंट राइटिंग मे एक बेहतर करियर बना सकते हैं। आज के समय मे न्यूज़ पेपर, पत्रिकाओं और ऑनलाइन Blogs और Website को Content की बहुत ज्यादा आवश्यकता है। अगर आप इस क्षेत्र मे काम शुरू करना चाहते है। तो आप इसमे आसानी से शुरु कर सकते हैं। इंटरनेट से पैसे कमाने के लिए यह बहुत ही सिक्युर तरीका है। अगर आप Content writing के बारे मे ज्यादा जानकारी चाहते हैं तो आप Content writing क्या है? इससे पैसे कैसे कमाएँ  इसे जरूर पढ़ें।

दोस्तों, आप ये तीनो काम करके घर बैठे हजारो रुपये की कमाई कर सकते है, आप जैसे हजारो लोग ऐसे काम करके अच्छी कमाई कर रहे है, आप भी कर सकते है। इन कार्यों के लिए आपको किसी भी तरह का निवेश करने की आवश्यकता नहीं है, आप बिना निवेश यह काम करके हर महीने हजारो रुपये आसानी से कमा सकते है। हालांकि नए काम की शुरुवात में काम समजने में आपको थोड़ी परेशानी हो सकती है, लेकिन आगे चलके आप खुद इनके मास्टर बन जायेंगे।


एप्प बेचें: करोड़ो लोगो के इस व्यापार स्थान में, ₹50-100 प्रति बिक्री भी आपकी कमाई को बहुत ऊपर तक ले जा सकती हैं। यदि आपके पास कोई शानदार विचार हैं लेकिन आप प्रोग्रामिंग के बारे में नही जानते, तो काम के लिए प्रोग्रामर को किराये पर रखना भी एक अच्छा विकल्प हैं। समान तरह की एप्प के बारे में भी खोजे और समीक्षा करें, और आपके प्रतिद्वंधियो से एक कदम आगे रहने के रास्ते खोजें, और जिन मोबाइल डिवाइस को आप एप्प बेचने जा रहे हैं उनकी कंपनी के नियमो का पालन करें।
×