एजुकेशन के लिए साल 2017 खास बदलावों के नाम रहा। शिक्षा विभाग से लेकर शहर के विभिन्न शैक्षिक संस्थानों में शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए काफी महत्वपूर्ण कदम उठाए गए। माध्यमिक शिक्षा विभाग में ऑनलाइन केंद्र बनाने का निर्णय लिया गया तो सारी प्रतियोगी परीक्षाओं में आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया। वहीं छात्रों की शिकायत के निस्तारण के लिए विशेष कॉल सेंटर खोलने पर भी मुहर लगाई गई। इस साल 2017 में शिक्षा में बदलाव के लिए हुए प्रयासों पर विशेष रिपोर्ट:
एजुकेशन के लिए साल 2017 खास बदलावों के नाम रहा। शिक्षा विभाग से लेकर शहर के विभिन्न शैक्षिक संस्थानों में शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए काफी महत्वपूर्ण कदम उठाए गए। माध्यमिक शिक्षा विभाग में ऑनलाइन केंद्र बनाने का निर्णय लिया गया तो सारी प्रतियोगी परीक्षाओं में आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया। वहीं छात्रों की शिकायत के निस्तारण के लिए विशेष कॉल सेंटर खोलने पर भी मुहर लगाई गई। इस साल 2017 में शिक्षा में बदलाव के लिए हुए प्रयासों पर विशेष रिपोर्ट:
मई 2016 में उनकी कोशिशें रंग लाईं और स्टार्टअप को गूगल के एक प्रोग्राम के तहत छह महीने की मेंटरशिप मिली। इडिकुला के लिए यह सपना सच होने जैसा था। उन्हें लगता है कि एक ऑनलाइन वेंचर शुरू करने का फैसला सही था, जहां विज्ञापनों से कमाई की काफी संभावनाएं हैं। ऑनलाइन टेक्नॉलजी-इनेबल्ड एक्सपेरिमेंटल लर्निंग प्लेटफॉर्म टैलंटस्प्रिंट के सीईओ और एमडी शांतनु पॉल बताते हैं कि ऑनलाइन जॉब्स या बिजनस आइडियाज स्टूडेंट्स की स्टडी के एरिया, इंटरेस्ट और एक्सपर्टाइज के हिसाब से उपलब्ध हैं। पॉल के मुताबिक, 'ऑनलाइन काम भारतीय छात्रों के लिए अहम है। जॉब मार्केट में अपनी रोजगार योग्यता और आकर्षण बढ़ाने का अहम जरिया है। इससे आपको अपने पैरों पर खड़ा होने का मौका मिलता है।'
लेख बेचें: बहुत सारे छोटे व्यवसाय, वेबसाइट, और व्यापारी अच्छे लेख और आसान संकेतशब्द के साथ लिखे हुए लेख खोजते हैं जिनसे उनको ज्यादा ट्रैफिक मिल सकें। हालाँकि शुरुआत में आप इससे ज्यादा नहीं कमा पाएँगे, सारे लेख मुख्यतः 200-300 शब्दों के होंगे जिन्हें जल्दी से लिखा जा सकता हैं। एक बार आप खुद को साबित कर देंगे तत्पश्चात आप अपनी सेवाओं के लिए ज्यादा कीमत की मांग भी कर सकते है। यदि आप कुशल और अनुभवी लेखक है, तो आप अपने कार्यो को आधिकारिक प्रकाशन को भी दे सकते है।
स्टॉक फोटोस बेचें: आपकी अभिरुचि को जारी रखते हुए पैसे कमाने का यह बहुत अच्छा तरीका हैं। लोग सामान्यतः संकेत शब्दों (keywords) की सहायता से स्टॉक फोटोस खोजते हैं, आपका कार्य भी उन सभी लोगो के सामान ही होगा। मतलब आप वो कोई भी फोटो सबमिट कर सकते हैं जो आपको अच्छी लगती हैं। एक बार ये अपलोड कर दी गई आपका काम समाप्त हो गया, और हालाँकि आप इससे प्रति बिक्री ज्यादा तो नही कमा पाएंगे लेकिन बहुत सारी स्टॉक फोटोस होने से निश्चित रूप से बिना किसी लागत के प्रतिमाह कुछ अतिरिक्त पैसे आपके हाथ में होंगे। आईस्टॉकफोटो (iStockphoto), शटरस्टॉक (ShutterStock), और फोटोलिया (Fotolia) फोटोस खरीदने बेचने की कुछ अच्छी जगहों में से हैं।
अब आप सोच रहे होंगे कि अपने प्रोडक्ट के बारे में किसे बताएं और फोटो किसे दें तो हम आपकी जानकारी के लिए बता देना चाहते हैं भारत में आज के समय में कई सारी कंपनियां लोगों का ऑनलाइन सामान सेल कराती हैं इनमें से… फ्लिपकार्ट, अमेज़न, स्नैपडील, शॉपक्लूज आदि कंपनी आपके सामान को इंटरनेट की दुनिया में सेल करने का काम करती है जिससे आपकी ऑनलाइन इनकम होना शुरू हो जाएगी.
ग्वालियर के एक छात्र को असम के तेजपुर में सेंटर दिया गया है. बिहार के खगड़िया के छात्र को 1,700 किलोमीटर दूर आंध्र प्रदेश के राजामुंदरी में सेंटर दिया गया है. खगड़िया से एक भी ट्रेन वहां नहीं जाती है. जोधपुर के छात्र को 2,000 किलोमीटर दूर ओडिशा के राउरकेला भेजा गया है. 35 घंटे की यात्रा है और दूरी 2,000 किलोमीटर की. इस छात्र ने रेलमंत्री को ट्वीट किया है कि किसी ट्रेन में टिकट भी नहीं है. बंगाल के छात्र को तमिलनाडु के तिरुनेल्वेली सेंटर दिया गया है. ट्रेन में टिकट नहीं है. पश्चिम बंगाल के छात्र का सेंटर मुंबई दिया गया है. झांसी का छात्र हैदराबाद जाए और पश्चिम बंगाल का पुणे. पटना के मनीष को केरल के एरनाकुलम जाना होगा. जयपुर के छात्र को कोलकाता जाना होगा. गंगासागर के मेले के कारण कोलकाता जाने वाली ट्रेन में टिकट नहीं है. बंगाल के मुर्शिदाबाद का छात्र बेंगलुरू कैसे जाएगा. रेलमंत्री खुद अपनी टाइमलाइन पर यह सब देख सकते हैं.

एजुकेशन के लिए साल 2017 खास बदलावों के नाम रहा। शिक्षा विभाग से लेकर शहर के विभिन्न शैक्षिक संस्थानों में शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए काफी महत्वपूर्ण कदम उठाए गए। माध्यमिक शिक्षा विभाग में ऑनलाइन केंद्र बनाने का निर्णय लिया गया तो सारी प्रतियोगी परीक्षाओं में आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया। वहीं छात्रों की शिकायत के निस्तारण के लिए विशेष कॉल सेंटर खोलने पर भी मुहर लगाई गई। इस साल 2017 में शिक्षा में बदलाव के लिए हुए प्रयासों पर विशेष रिपोर्ट:
हाल ही में रेलमंत्री ने अपने ट्विटर हैंडल पर रोज़गार से संबंधित एक प्रचार वीडियो जारी किया, जिसकी भाषा से लगता है कि रेलवे ने एक लाख लोगों को रोज़गार दे ही दिया है. सहायक लोको पायलट और टेक्नीशियन के लिए फॉर्म भरने की अंतिम तारीख 31 मार्च, 2018 थी. इसके चार महीने बाद 9 से 13 अगस्त, 2018 के बीच पहली परीक्षा होती है. इस परीक्षा का रिज़ल्ट निकलता है 20 दिसंबर, 2018 को, यानी साढ़े तीन महीने बाद. अब दूसरे चरण की परीक्षा 21, 22, 23 जनवरी, 2019 को होगी. अगर साढ़े तीन महीने का औसत निकालें, तो रिज़ल्ट आते-आते मई, 2019 हो जाएगा. उस समय देश में लोकसभा का चुनाव हो रहा होगा. मई 2019 में रिज़ल्ट आ भी जाएगा, तो अभी मनोवैज्ञानिक और मेडिकल जांच बाकी है. उसके बाद दस्तावेज़ का सत्यापन होगा. कुल मिलाकर अगस्त, 2019 से पहले अंतिम रिज़ल्ट आने की संभावना नहीं है. इनकी ज्वाइनिंग कब होगी, यह तो रेलमंत्री ही जानें. बशर्ते, उन्हें यही पता हो कि अगली बार भी वही रेलमंत्री बनेंगे या नहीं.
अब आप सोच रहे होंगे कि अपने प्रोडक्ट के बारे में किसे बताएं और फोटो किसे दें तो हम आपकी जानकारी के लिए बता देना चाहते हैं भारत में आज के समय में कई सारी कंपनियां लोगों का ऑनलाइन सामान सेल कराती हैं इनमें से… फ्लिपकार्ट, अमेज़न, स्नैपडील, शॉपक्लूज आदि कंपनी आपके सामान को इंटरनेट की दुनिया में सेल करने का काम करती है जिससे आपकी ऑनलाइन इनकम होना शुरू हो जाएगी.
 केप्चा एंट्री सबसे बेहतरीन ऑनलाइन जॉब है। आप अगर ऑनलाइन डाटा एंट्री जॉब की खोज में हैं तो केप्चा एंट्री आपके लिए सबसे बेहतरीन जॉब है। आज के समय में आप केप्चा से परिचित तो होंगे ही। ऐसी कई कंपनियां हैं जिनको हजारों वेबसाइट में लाखों अकाउंट की जरुरत पड़ती है, वो कंपनियां एकाउंटिंग क्रिएटिंग सॉफ्टवेर की मदद लेती हैं। लेकिन केप्चा इमेजेज उनको इन साइट्स में आटोमेटिक अकाउंट बनाने से रोकते हैं। आज के समय में केप्चा एंट्री वर्कर की डिमांड बहुत ही जादा है। आप 1 से 2 घंटे में 1000 केप्चा सोल्व कर सकते हैं, यह आपके ऊपर निर्भर करता है।  आपको 1000 केप्चा सोल्व करने के बदले 1 डॉलर या 2 डॉलर कमा सकते हैं, आप ऐसे ही 3-4 साइट्स पर काम कर सकते हैं, और प्रतिमाह 10000 से 15000 रूपए कमा सकते हैं।

डोमेन नाम बदलना: डोमेन नाम इंटरनेट जगत के मूल्यवान रियल एस्टेट हैं और कुछ लोग इन्हें बेच और खरीद के अच्छी कीमत कमा रहे हैं। रणनीति के लिए आप गूगल एडवर्ड का इस्तेमाल कर ज्यादा चलन में आ रहे संकेत शब्दों (Keywords) को खोज सकते हैं और अनुमान लगा सकते है कि कौनसे डोमेन नाम की भविष्य में मांग हो सकती हैं। हालाँकि छोटे, रोचक, या सीधे अच्छे डोमेन नाम पहले ही लिए जा चुके हैं, लेकिन फिर भी आप कोई भी आधिवर्णिक (Random acronyms) डोमेन भी ले सकते हैं, जैसे कि कोई नही जानते कि कब किसी व्यक्ति या कंपनी को अपनी वेबसाइट बनाने के लिए उसी नाम की जरूरत हो जाये। (उदहारण के लिए, CPC.com, जो ₹1,20,00000 में बिका था जब कॉन्ट्रैक्ट फार्मास्युटिकल कॉर्पोरेशन ने ऑनलाइन आने का निर्णय लिया।[१] तीन अक्षरो के लिए यह कीमत बुरी नहीं हैं।)
×