तीन साल पहले ग्रैजुएशन करने के दौरान पुणे में रहने वाले गौरव जाजू ने घर पर ही बच्चों को साइंस पढ़ाना शुरू किया ताकि कुछ पैसे कमाए जा सकें। इस एक्सपीरियंस से उन्हें मदद मिली। अब फार्मेसी में मास्टर डिग्री ले रहे जाजू खाली वक्त में स्टूडेंट्स के लिए ऑनलाइन लेक्चर चलाते हैं। वह एक साइट पर रजिस्टर्ड हैं, जिसके जरिए उन्हें स्टूडेंट्स मिलते हैं और उनके पैरंट्स पढ़ाई के बारे में उनसे संपर्क कर सकते हैं। इससे न केवल उन्हें अहम टीचिंग एक्सपीरियंस मिल रहा है, बल्कि वह हर महीने 15,000 रुपये तक की कमाई भी कर लेते हैं।

एजुकेशन के लिए साल 2017 खास बदलावों के नाम रहा। शिक्षा विभाग से लेकर शहर के विभिन्न शैक्षिक संस्थानों में शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए काफी महत्वपूर्ण कदम उठाए गए। माध्यमिक शिक्षा विभाग में ऑनलाइन केंद्र बनाने का निर्णय लिया गया तो सारी प्रतियोगी परीक्षाओं में आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया। वहीं छात्रों की शिकायत के निस्तारण के लिए विशेष कॉल सेंटर खोलने पर भी मुहर लगाई गई। इस साल 2017 में शिक्षा में बदलाव के लिए हुए प्रयासों पर विशेष रिपोर्ट:
तो, ये ऑनलाइन पैसा कमाने के 10 आसान तरीके हैं (Top 10 Easy Ways To Earn Money Online in hindi) जिनका उपयोग करके आप बिना किसी  Investment के घर से ऑनलाइन पैसे कमा सकते हैं और हमें उम्मीद है कि ये तरीके आपकी बहुत मदद करेंगे। और अगर हमारी post को लेकर आपके मन मैं कोई सवाल हैं और अगर आपको कोई परेशनी आ रही हैं  तो आप हमे नीचे Comment Box मैं बता सकते हैं ।

तो, ये ऑनलाइन पैसा कमाने के 10 आसान तरीके हैं (Top 10 Easy Ways To Earn Money Online in hindi) जिनका उपयोग करके आप बिना किसी  Investment के घर से ऑनलाइन पैसे कमा सकते हैं और हमें उम्मीद है कि ये तरीके आपकी बहुत मदद करेंगे। और अगर हमारी post को लेकर आपके मन मैं कोई सवाल हैं और अगर आपको कोई परेशनी आ रही हैं  तो आप हमे नीचे Comment Box मैं बता सकते हैं ।


पिछले साल रेलवे ने 64,317 पदों की वेकेंसी निकाली थी, जिसकी पहली परीक्षा अगस्त, 2018 में हुई. 31 मार्च तक फार्म भरे गए थे. 47 लाख से अधिक छात्रों ने फार्म भरे थे. इन सबका सेंटर अचानक 1,500-2,000 किलोमीटर दूर दे दिया गया. किसी को ट्रेन में रिज़र्वेशन नहीं मिला, तो किसी के पास टिकट के पैसे नहीं थे. किसी तरह इम्तिहान देने पहुंचे, तो रात प्लेटफार्म पर गुज़ारी. बहुत से छात्रों का इम्तिहान इसलिए छूट गया कि उनकी ट्रेन लेट हो गई. छात्र चिल्लाते रहे, रोते रहे, रेलमंत्री को ट्वीट करते रहे, मगर किसी को कुछ फर्क नहीं पड़ा.
बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर विवि (बीबीएयू) में वीसी प्रो. आरसी सोबती का ड्रीम प्रॉजेक्ट आंबेडकर भवन का निर्माण कार्य तीन साल के बाद पूरा हुआ। साथ ही कई साल से खाली पड़े पदों पर भर्तियां भी करवाई गईं। छात्रों को वाई-फाई की सुविधा भी इसी साल मिली। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) में इस साल से छात्रों की शिकायत के निवारण के लिए कॉल सेंटर बनाने पर मुहर लगी। ऐसे में यह यूपी का पहला विवि भी बना जहां छात्रों की शिकायतों के लिए कॉल सेंटर बनाया गया। ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती अरबी-फारसी विश्वविद्यालय में जहां इस साल नए वीसी आए तो वहीं पीएचडी के दाखिलों को भी हरी झंडी मिली। इसी साल यहां की कार्यपरिषद भी शुरू हुई।
सोमवार, जुलाई 2, 2012 समाज में लोगों को पता है कि इंटरनेट पर कई वेब पेज हैं जो उचित तरीके से तरीके का विज्ञापन करते हैं पैसा ऑनलाइन बना रहा है। ज्यादातर वेबसाइट्स के लिए, वे ग्राहकों को किसी भी चीज को बिना किसी शुल्क के अपने पृष्ठ पर एक खाता सेट अप करने की अनुमति दे सकते हैं। दूसरी ओर, कुछ लोग हैं जो एक महीने से महीने के आधार पर एक निश्चित शुल्क के लिए कहा गया सदस्यता या एक बार बड़ा समय हासिल कर सकते हैं।
एफिलिएट मार्केटर बनें: बिना किसी सामान को सहेजे किसी दूसरे के उत्पादों या सेवाओं का प्रचार कर पैसे कमाने का यह बहुत अच्छा तरीका हैं। एफिलिएट विज्ञापन सामान्यतः आपके वेबसाइट/ब्लॉग/पृष्ठ में लिंक द्वारा जुड़े रहते है (यह बहुत अच्छा तरीका है यदि आपके लेख मजबूत और सम्मोहक हैं, लेकिन यह ध्यान से किया जाना चाहिए ताकि विज्ञापन स्पैमी नहीं लगे, उत्पाद-प्लेसमेंट वीडियो (यह भी अच्छा तरीका हैं यदि आप मजाकिया या आपमें प्रदर्शन की प्रतिभा हैं), या बहुत कम बैनर विज्ञापन (कम प्रभावशील) क्योंकि ज्यादातर लोग इन्हें टाल देते हैं। यदि जरूरत है, तो आप बिना वेबसाइट के भी एफिलिएट मार्केटर बन सकते हैं (यू ट्यूब पर आपके एफिलिएट लिंक के साथ वीडियो पोस्ट करें)। कमीशन जंक्शन (Commission Junction) जैसी वेबसाइट पर आप संभावित उत्पाद और सेवाएँ देख सकते हैं।
×