सर्वेक्षण लेने के दौरान आप अमीर नहीं होंगे, यदि आप क्रिस सर्वेक्षण पर मेरी सलाह का पालन करते हैं, तो यह एक छात्र के लिए एक अच्छी राशि बना देगा। खासकर जब आप समझते हैं कि आप आज जीतना शुरू कर सकते हैं और आपको वहां जाने के लिए कंप्यूटर या स्मार्ट फोन की जरूरत है। उपयोग में आसानी के साथ, और वह राशि जिसे आप अपनी मासिक आय में जोड़ सकते हैं, मेरा मानना ​​है कि छात्रों के लिए सर्वश्रेष्ठ ऑनलाइन नौकरियों में से एक होने के लिए सर्वेक्षण करना। साइड अर्जित करने के लिए सर्वश्रेष्ठ ऑनलाइन सर्वेक्षण वेबसाइटों पर मेरे पिछले लेख पर एक नज़र डालें।
ऑनलाइन सेलर बने, यदि आपके पास कोई प्रोडक्ट है जिसे आप अभी अपनी शॉप पर रखकर बेचते हैं या मार्केट में बेचने जाते हैं तो आप आज के बाद से ही यह प्रोडक्ट ऑनलाइन बेचना शुरू कर दें. क्योंकि इंटरनेट की दुनिया में आपको ग्राहक मिलने की कोई कमी नहीं रहेगी ना ही आपको किसी से कहना पड़ेगा कि आप मेरा प्रोडक्ट खरीद लो, बस आपको एक बार अपने प्रोडक्ट के बारे में बताना होगा उसका एक फोटो देना होगा और अपने हिसाब से कीमत तय करनी होगी.
आपके द्वारा ऑनलाइन व्यापार पर व्यतीत किये जा सकने वाले समय का मूल्यांकन करें। क्या आप घर में दो बच्चों और माँ के साथ रहते हैं और उनके स्कूल और घर-खर्च का व्यय भी आपको करना पड़ता हैं या आप अकेले ही रहते है? कितना समय आप आपके ऑनलाइन व्यवसाय को दे सकते हैं उसकी पहचान करें और उससे आपकी मासिक वांछित आमदनी से गणना करे। कुछ व्यवसाय विशेष में शुरुआती महीनों अतिरिक्त घण्टे कार्य करना पड़ सकता हैं, जैसे यदि आप ग्राहकों की सूची बना रहे हैं।

एजुकेशन के लिए साल 2017 खास बदलावों के नाम रहा। शिक्षा विभाग से लेकर शहर के विभिन्न शैक्षिक संस्थानों में शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए काफी महत्वपूर्ण कदम उठाए गए। माध्यमिक शिक्षा विभाग में ऑनलाइन केंद्र बनाने का निर्णय लिया गया तो सारी प्रतियोगी परीक्षाओं में आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया। वहीं छात्रों की शिकायत के निस्तारण के लिए विशेष कॉल सेंटर खोलने पर भी मुहर लगाई गई। इस साल 2017 में शिक्षा में बदलाव के लिए हुए प्रयासों पर विशेष रिपोर्ट:
रेलमंत्री को अगर यह हिसाब तब भी समझ नहीं आता है, तो एक छात्र ने जो हिसाब भेजा है, वह दे देता हूं. बीकानेर से नागपुर जाने के लिए एक ही ट्रेन है, अणुव्रत एक्सप्रेस, जो हफ्ते में एक-दो दिन ही चलती है. एक तरफ से 26 घंटे का सफर है. दोनों तरफ का किराया मिलाकर टिकट पर सिर्फ 3,240 रुपये खर्च होंगे. 23 जनवरी को पहुंचने के लिए उसे 20 जनवरी को निकलना पड़ेगा, वापसी की ट्रेन 23 और 24 की नहीं है, तो नागपुर में दो दिन रुकना भी पड़ेगा. इस तरह एक परीक्षा देने में उसे सात दिन लगेंगे. 10,000 से अधिक रुपये खर्च हो जाएंगे. रेलमंत्री जी बताएं, एक छात्र को प्रयागराज से कर्नाटक के हुबली भेजने का क्या मतलब. 32 घंटे का सफर तय करना पड़ेगा. वह भी तब, जब आपकी ट्रेन समय से चली, जो चलती नहीं. राजस्थान के गंगानगर से किसी को केरल के कोच्चि में भेजने का क्या मतलब है. क्या इसी को ऑनलाइन इम्तिहान कहते हैं...?
इस पद्धति से, आप सहबद्ध कमीशन कमा सकते हैं जो एक उद्यम के लिए आपकी प्रारंभिक पूंजी के रूप में उपयोग किया जा सकता है। इस तरह, आप एक ही समय में स्वयं की मदद करते हुए अन्य लोगों की मदद करते हैं। कोई भी तरीका नहीं है कि आप Clickbank के साथ ऑनलाइन पैसा बनाना चाहते हैं, प्रत्येक पद्धति निश्चित रूप से आपको दिमाग-उड़ाने वाले राजस्व को लाएगी। यह सिर्फ कुछ धैर्य, कड़ी मेहनत और रचनात्मकता लेता है
स्टॉक फोटोस बेचें: आपकी अभिरुचि को जारी रखते हुए पैसे कमाने का यह बहुत अच्छा तरीका हैं। लोग सामान्यतः संकेत शब्दों (keywords) की सहायता से स्टॉक फोटोस खोजते हैं, आपका कार्य भी उन सभी लोगो के सामान ही होगा। मतलब आप वो कोई भी फोटो सबमिट कर सकते हैं जो आपको अच्छी लगती हैं। एक बार ये अपलोड कर दी गई आपका काम समाप्त हो गया, और हालाँकि आप इससे प्रति बिक्री ज्यादा तो नही कमा पाएंगे लेकिन बहुत सारी स्टॉक फोटोस होने से निश्चित रूप से बिना किसी लागत के प्रतिमाह कुछ अतिरिक्त पैसे आपके हाथ में होंगे। आईस्टॉकफोटो (iStockphoto), शटरस्टॉक (ShutterStock), और फोटोलिया (Fotolia) फोटोस खरीदने बेचने की कुछ अच्छी जगहों में से हैं।

अगस्त, 2018 में खुद रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ही ट्वीट किया था कि 74 फीसदी छात्र परीक्षा में शामिल हुए. यानी 47.56 लाख छात्रों में से 26 प्रतिशत परीक्षा देने से वंचित रह गए. इस तरह बिना इम्तिहान दिए ही 12 लाख से अधिक छात्र बाहर हो गए. जब पहले चरण की परीक्षा का रिज़ल्ट आया, तो 12 लाख छात्र ही दूसरे चरण के लिए चुने गए. अब जब संख्या छोटी हो गई, तो इनके सेंटर तो राज्य के भीतर दिए जा सकते थे. अगर नकल गिरोह से बचाने का तर्क है, तो यह बेतुका है, क्योंकि आजकल ऐसे गिरोह अखिल भारतीय स्तर पर चल रहे हैं, इसलिए सरकार को अपने सेंटर की निगरानी बेहतर करनी चाहिए, न कि छात्रों को 2,000 किलोमीटर दूर भेजकर परेशान करना चाहिए.


यद्यपि वैश्विक बाजार इतनी ऊचाईयों पर भी नहीं पहुँचा है कि लोग अपने कार्यालय पहुँचने के लिए निजी छोटे स्पेसशिप का इस्तेमाल कर रहे हैं, लेकिन हाँ इसमें इतना परिवर्तन जरूर आ गया हैं कि कर्मचारियों को अपने स्वयं के कंप्यूटर और घर के आराम को नही छोड़ना पड़ता हैं। नीचे आप ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीके और ऑनलाइन विश्व में सफलता प्राप्त करने के लिए जरुरी सामान्य सलाहें देखेंगे।
×